त्रिपुराः पूर्व सीएम माणिक सरकार ने लगाए भाजपा पर गंभीर आरोप, बोले- मुझे अपने विधानसभा क्षेत्र जाने से रोका

2021-09-14T19:35:24.15

नई दिल्लीः त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री और माकपा नेता माणिक सरकार ने मंगलवार को आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ भाजपा ने उन्हें कई बार राज्य और उनके निर्वाचन क्षेत्र का दौरा करने से रोका। उन्हों यह बात माकपा महासचिव सीताराम येचुरी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राज्य में भाजपा द्वारा वामपंथी कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा का आरोप लगाये जाने के कुछ दिनों बाद कही है। सरकार 1998 से 2018 तक त्रिपुरा का मुख्यमंत्री रहे थे। मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में येचुरी और सरकार ने त्रिपुरा में हिंसा को लेकर भाजपा पर निशाना साधा।

सरकार ने आरोप लगाया, ‘‘त्रिपुरा में, भारत का संविधान काम नहीं करता है। मेरे सहित माकपा के विधायकों को अपने निर्वाचन क्षेत्र का दौरा नहीं करने दिया जाता है। भाजपा के 42 महीनों से सत्ता में रहने के दौरान, मुझे 15 बार राज्य के विभिन्न हिस्सों और मेरे निर्वाचन क्षेत्र का दौरा करने से रोका गया है।'' दोनों वाम नेताओं ने दावा किया कि त्रिपुरा में भाजपा सरकार के खिलाफ "भारी असंतोष" है।

येचुरी ने आरोप लगाया, ‘‘माकपा लोगों के विरोध को तेज करने के प्रयासों की अगुवाई कर रही है। वे (भाजपा) इस प्रक्रिया को नहीं होने देना चाहते हैं और हिंसा का सहारा ले रहे हैं?'' माकपा महासचिव ने कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री को लिखे अपने पत्र में आरोप लगाया था कि 8 सितंबर को ‘‘पूर्व नियोजित तरीके से'' त्रिपुरा में पार्टी के कार्यालयों पर ‘‘भाजपा के लोगों की भीड़'' द्वारा हमला किया गया। पत्र में येचुरी ने आरोप लगाया था कि हमलावरों ने जिस तरह से यह सब किया, उससे राज्य सरकार की 'मिलीभगत' दिखाई देती है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Recommended News