स्वर्णिम विजय मिशाल पहुंचा जम्मू के शहीद स्मारक पर

2021-04-22T14:21:56.957

जम्मू : पाकिस्तान पर भारत की जीत के 50 वें वर्षगांठ समारोह की शुरुआत के मौके पर पिछले साल नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जलायी गयी स्वर्णिम विजय मिशाल बुधवार को यहां शहीद स्मारक पर पहुंची। रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि यहां बलिदान स्तंभ पर शिवालिक ब्रिगेड ने स्वर्णिम विजय मिशाल ग्रहण की। भारत 1971 की लड़ाई में पाकिस्तान पर अपनी जीत की याद में 16 दिसंबर को विजय दिवस मनाता है। इस लड़ाई के फलस्वरूप ही बांग्लादेश अस्तित्व में आया था।

 

प्रधानमंत्री ने नयी दिल्ली राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की शाश्वत लौ से स्वर्णिम विजय मिशाल जलायी थी और यह 1971 की लड़ाई में भारत की जीत के 50 वें वर्षगांठ समारोह की शुरूआत थी।  यहां समारोह शिवालिक ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर ए पी सिंह, 1971 की लड़ाई में शामिल हो चुके पूर्व सैनिकों एवं सभी सैन्यकर्मियों द्वारा बलिदान स्तंभ पर माल्यार्पण के साथ प्रारंभ हुआ।

 

प्रवक्ता के अनुसार विजय मिशाल बलिदान स्तंभ से सुंजवान मिलिट्री स्टेशन ले जायी गयी। वहां ब्रिगेडियर सिंह ने मशाल ग्रहण की और कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। उन्होंने अपने संबोधन में इस लड़ाई में भारतीय सैनिकों की वीरता एवं साहस काो रेखांकित किया।


 


Content Writer

Monika Jamwal

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static