श्रद्धा मर्डर केस: आफताब का हो सकता है नार्को टेस्ट, अभी तक 13 शव के टुकड़े मिले...बाकी की तलाश जारी

punjabkesari.in Wednesday, Nov 16, 2022 - 11:50 AM (IST)

नेशनल डेस्क: दिल्ली पुलिस अपनी लिव इन पार्टनर की हत्या के आरोपी 28 वर्षीय आफताब को मंगलवार को छतरपुर के जंगल में ले गई जहां उसने कथित रूप से शव के टुकड़े फेंके थे। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस हत्या की जांच के तहत आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को छतरपुर के जंगल के अलावा शहर के कुछ अन्य स्थानों पर ले जाया जाएगा।

 

पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने जिन इलाकों में शव के टुकड़ों को फेंकने की जानकारी दी, वहां से 13 टुकड़े बरामद किये गए हैं, लेकिन फॉरेंसिक जांच के बाद ही पुष्टि हो सकेगी कि क्या यह पीड़िता से जुड़े हैं। पुलिस को अभी तक हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार नहीं मिला है। दिल्ली पुलिस बाकी टुकड़ों और हथियार की तलाश में आरोपी आफताब के साथ महरौली के जंगलों में आज फिर जाएगी। वहीं दिल्ली पुलिस आफताब का नार्को टेस्ट कराने पर भी विचार कर रही है।

 

क्या तुम अपने किए पर शर्मिंदा हो?

 

मंगलवार को जब पूनावाला को पुलिसकर्मी जंगल में ले गए तब उसका चेहरा कपड़े से ढका था और कैमरामैन एवं पत्रकार उसका फोटो एवं बयान लेने के लिए आपाधापी कर रहे थे। ऐसा लगता है कि इस नृशंस हत्या को लेकर जनाक्रोश सामने आने लगा है क्योंकि जब छतरपुर के जंगल में उसे ले जाया गया तब वहां एक महिला ने उससे सवाल किया कि उसे अपनी करतूतों पर शर्म नहीं है, क्या वह अपने किए पर शर्मिंदा है। पूनावाला ने जांच के दौरान पुलिस को बताया कि शादी को लेकर झगड़ा होने के बाद उसने अपनी साथी श्रद्धा वाकर को मार डाला तथा उसके शव को टुकड़ों में काटने का विचार उसे एक अमेरिकी टेलीविजन सीरीज ‘डेक्सटर' से आया। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने शव के टुकड़ों को रखने के लिए एक फ्रिज खरीदा तथा वह इन टुकड़ों को फेंकने के लिए आधी रात को निकलता था। पुलिस के अनुसार आरोपी ने इन टुकड़ों को फेंकने की योजना इस आधार पर सावधानीपूर्वक बनाई थी कि शरीर का कौन-सा हिस्सा जल्द से जल्द सड़ना शुरू हो जाता है। 


ऑनलाइन डेटिंग ऐप के जरिए मिले थे श्रद्धा और आफताब

पुलिस ने बताया कि पूनावाला और श्रद्धा वाकर ऑनलाइन डेटिंग ऐप के माध्यम से एक दूसरे के संपर्क में आये और बाद में दोनों मुंबई में एक कॉल सेंटर में काम करने लगे एवं दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया। पुलिस का कहना है कि लेकिन जब उनके परिवारों ने दोनों के अलग-अलग धर्म होने के कारण इस रिश्ते का विरोध किया तब यह युगल इस साल मई में दक्षिण दिल्ली के महरौली आ गया। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त-प्रथम (दक्षिण जिला) अंकित चौहान ने बताया, ‘‘मध्य मई में शादी को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई, जो बढ़ गई तथा पूनावाला ने श्रद्धा की हत्या कर दी। ''चौहान ने बताया कि पूनावाला के साथ अपने रिश्ते को लेकर मतभेद के चलते श्रद्धा की अपने परिवारवालों से ठीक से बातचीत भी नहीं होती थी।

 

मुंबई में श्रद्धा के पिता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में आरोप लगाया गया है कि पूनावाला श्रद्धा के साथ मारपीट करता था और उसने पहले यह बात अपने परिवार को बतायी थी। चौहान ने कहा कि जब महिला के पिता ने आरोपी को फोन किया तब उन्हें बताया गया कि दोनों कुछ समय पहले अलग हो गये। अपनी बेटी से संपर्क नहीं कर पाने पर उन्होंने गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई।'' शिकायत मिलने के बाद, मुंबई पुलिस को श्रद्धा की अंतिम लोकेशन के रूप में दिल्ली का पता लगा और आफताब को भी फोन किया लेकिन उसके विरोधाभासी बयानों से संदेह पैदा हुआ, जिसके बाद उसने (मुंबई पुलिस ने) दिल्ली पुलिस को अपने साथ लिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News