अनुराग ठाकुर का दावा, प्रदर्शनकारी किसान ''हमारे भाई'', बातचीत के लिए तैयार सरकार

punjabkesari.in Thursday, Feb 22, 2024 - 01:21 AM (IST)

नेशनल डेस्क : केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को कहा कि प्रदर्शनकारी किसान हमारे 'भाई' व 'अन्नदाता' हैं और केंद्र सरकार उनसे बातचीत के लिए तैयार है। ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों की अधिक आय सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाए हैं। ठाकुर ने कहा कि सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान पंजाब-हरियाणा सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के मुद्दे पर चर्चा हुई, मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार बातचीत के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा, ''हम पहले भी बातचीत के लिए तैयार थे और आज भी तैयार हैं और भविष्य में भी उनके मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार रहेंगे।'' ठाकुर ने कहा, ''हमें कोई समस्या नहीं है क्योंकि वे हमारे भाई और अन्नदाता हैं।'' केंद्रीय मंत्री ने किसानों की आय दोगुनी करने और कृषि व संबद्ध क्षेत्रों में उच्च वृद्धि प्राप्त करने के लिए मोदी सरकार की विभिन्न योजनाओं को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) दोगुना कर दिया है और खरीद भी दोगुना से अधिक बढ़ा दी गई है।

ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले 10 वर्षों में गेहूं, धान, तिलहन और दालों की खरीद पर 18.39 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं जबकि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने 5.5 लाख करोड़ रुपये खर्च किए थे। मंत्री ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के 10 वर्षों के दौरान किसानों को दिए गए उच्च एमएसपी और संप्रग सरकार के पिछले 10 वर्षों की तुलना में अधिक खरीद की भी तुलना की। उन्होंने कहा कि सरकार ने उचित दरों पर उर्वरकों की आपूर्ति सुनिश्चित की है।

ठाकुर ने चीनी मिलों द्वारा किसानों को गन्ने की कीमतों के भुगतान में आठ प्रतिशत की बढ़ोतरी के मंत्रिमंडल के फैसले का जिक्र करते हुए कहा, ''भारत, दुनियाभर में गन्ने के लिए सबसे ज्यादा कीमत चुका रहा है।'' केंद्रीय मंत्री ने कहा, ''हमने किसानों के हित में गन्ने के लिए उचित और लाभकारी मूल्य (एफआरपी) में आठ प्रतिशत की बढ़ोतरी की है।'' ठाकुर ने कहा कि इस साल गन्ने की कीमत को 315 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 340 रुपये कर दिया गया है।

उन्होंने दावा किया कि सरकार किसानों को गन्ने के तय फार्मूला के मुकाबले 107 प्रतिशत अधिक का भुगतान कर रही है। ठाकुर ने कहा कि पीएम-किसान योजना के तहत सरकार ने लगभग 12 करोड़ किसानों को 2.81 लाख करोड़ रुपये का भुगतान किया है। ठाकुर ने कांग्रेस पर किसानों के लिए पर्याप्त काम नहीं करने के लिए निशाना साधते हुए कहा, ''कांग्रेस के समय न सम्मान था, न निधि थी।'' पीएम-किसान योजना के तहत केंद्र सरकार पात्र किसानों को तीन समान किस्तों में प्रति वर्ष 6,000 रुपये का भुगतान करती है। उन्होंने कहा, ''यह किसानों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता और कर्तव्य है।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Parveen Kumar

Recommended News

Related News