कोरोना की दूसरी लहर को लेकर बोली प्रियंका गांधी- भगवान के लिए कुछ करो सरकार

2021-04-21T10:27:13.147

नेशनल डेस्क: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोराेना की स्थिति पर चिंता जताते हुए सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि आज देशभर से रिपोर्ट आ रही हैं कि बेड, ऑक्सीजन, रेमडेसिविर, वेंटिलेटर की कमी है। पहली वेव और दूसरी वेव के बीच हमारे पास तैयारी करने के कई महीने थे, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया। प्रियंका गांधी ने कहा कि भगवान के लिए सरकार कुछ करे। उनके पास जितने संसाधन हैं उन्हें वो कोरोना की लड़ाई में लगाएं। अगर केंद्र सरकार अपना मन बनाए तो अभी भी ऑक्सीजन की सुविधा बनाई जा सकती है।


सरकार के पास ऑक्सीजन को ट्रांसपोर्ट करने की नहीं सुविधा: प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव ने एक इंटरव्यू में कहा कि  भारत की ऑक्सीजन प्रोडक्शन कैपेसिटी दुनिया में सबसे बड़ी है, ऑक्सीजन को ट्रांसपोर्ट करने की सुविधा नहीं बनाई गई। उन्होंने कहा कि कितनी  बड़ी त्रासदी है कि देश में ऑक्सीजन उपलब्ध है लेकिन जहां पहुंचना चाहिए वहां पहुंच नहीं पा रहा है। पिछले 6 महीने में 1.1 मिलियन रेमडेसिविर इंजेक्शन का निर्यात हुआ है और आज हमारे पास इंजेक्शन की कमी है।


सरकार पर उठाए सवाल
 प्रियंका गांधी ने कहा कि  सरकार ने जनवरी से मार्च महीने में कोरोना वायरस की 6 करोड़ वैक्सीन निर्यात की और इसी समय में 3-4 करोड़ भारतीयों को वैक्सीन दी। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि आपने भारतीयों को प्राथमिकता क्यों नहीं दी? ऑक्सीजन उत्पादन में भारत दुनिया के सबसे बड़े देशों में से एक है तो फिर यहां इसकी कमी क्यों है?  कांग्रेस महासचिव ने  कहा कि सरकार के पास समय था लेकिन इसके बावजूद कुछ नहीं किया और सरकार चुनाव में व्यस्त है।

 

सरकार विपक्ष के साथ क्यों नहीं करती चर्चा: प्रियंका गांधी
प्रियंका गांधी ने सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा कि सरकार दुबई में आईएसआई से बात कर सकती है लेकिन विपक्ष से बात नहीं कर सकती। उनके सुझावों पर चर्चा नहीं कर सकती। उन्होंने भारत की ओर से कोरोना टीका निर्यात किए जाने को लेकर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि जनवरी से मार्च के बीच सरकार ने 6 करोड़ कोरोना वैक्सीन निर्यात की। इस दौरान सिर्फ 3 से 4 करोड़ भारतीयों को ही टीका दिया गया था। 


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static