लता दीदी को याद कर फिर भावुक हुए PM मोदी, बोले- ''मैं एक राखी से गरीब हो गया''

punjabkesari.in Friday, May 27, 2022 - 11:34 AM (IST)

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वर कोकिला लता मंगेशकर को याद कर एक बार फिर से भावुक हो गए। पीएम मोदी ने कहा कि वे एक राखी से गरीब हो गए हैं। लता दीदी के भाई संगीतकार हृदयनाथ मंगेशकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार की राशि को पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) में दान करने का फैसला किया है।

 

लता मंगेशकर के निधन के बाद लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार उनकी स्मृति और सम्मान देने के लिए ऐलान किया गया था, जिसमें घोषणा की गई थी कि मास्टर दीनानाथ मंगेशकर स्मृति प्रतिष्ठान चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा ये पुरस्कार एक साल में केवल एक ही व्यक्ति को दिया जाएगा। इसके साथ ही कहा गया था कि वह व्यक्ति इस पुरस्कार का हकदार होगा, जिसने देश और उसके लोगों के लिए शानदार और अनुकरणीय योगदान दिया होगा। इसी के तहत पहला पुरस्कार पीएम मोदी को दिया गया। 

 

इस पुरस्कार से प्राप्त धनराशि को पीएम मोदी ने एक चैरिटी के लिए डोनेट करने का फैसला किया था। ट्रस्ट ने ये जानकारी दी कि चैरिटी के लिए उनके द्वारा दी गई एक लाख रुपए की राशि को पीएम केयर फंड में देने का फैसला किया है। हृदयनाथ मंगेशकर ने 26 मई को एक ट्वीट कर बताया कि उन्हें पीएम मोदी की तरफ से एक खत मिला है।

 

PM मोदी ने खत में लिखा
पीएम मोदी ने इस खत में लिखा कि ‘पिछले महीने मुंबई में पुरस्कार समारोह के दौरान मुझे जो स्नेह मिला, उसको मैं कभी नहीं भूल सकता, मुझे अफसोस है कि तबीयत खराब होने के कारण मैं आपसे मिल नहीं सका, लेकिन आदिनाथ ने कार्यक्रम को अच्छे से मैनेज किया’। उन्होंने आगे लिखा, ‘जब मैं यह पुरस्कार ग्रहण करने और अपना वक्तव्य देने के लिए उठा, तब मुझे कई तरह की भावनाओं ने घेर लिया। सबसे ज्यादा याद मुझे लता दीदी की आई, जब मैं पुरस्कार ले रहा था तब मुझे ये आभास हुआ कि मैं इस बार एक राखी से गरीब हो गया हूं, मुझे ये एहसास हुआ कि अब मुझे अपने स्वास्थ्य के बारे में पूछने वाला, मेरी भलाई के बारे में पूछने और साथ ही विभिन्न विषयों पर चर्चा करने वाले फोन कॉल नहीं मिलेंगे’।

 

उन्होंने पत्र में आगे लिखा कि इस पुरस्कार के साथ मुझे 1 लाख रुपए की नकद राशि मिली है, क्या मैं इसे किसी धर्मार्थ संस्थान को उनके कार्यों के लिए दान करने का अनुरोध कर सकता हूं? इस राशि का इस्तेमाल दूसरों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए किया जा सकता है, जो लता दीदी हमेशा से करना चाहती थीं। उन्होंने आखिर में लिखा- ‘मैं एक बार फिर मंगेशकर परिवार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं और लता दीदी को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।’


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News