See More

पायलट बोले- आलाकमान से नहीं हुई बात, गहलोत के साथ बस 84 MLA

2020-07-14T05:53:49.073

नई दिल्लीः राजस्थान में अशोक गहलोत का संकट अब टलता दिख रहा है। सोमवार दोपहर को अशोक गहलोत ने 100 से अधिक विधायकों की परेड मीडिया के सामने करवाई और विक्ट्री साइन दिखाया। साप है कि अशोक गहलोत ने संदेश दिया है कि उनके पास बहुमत से है और सचिन पायलट के सभी दावे गलत साबित हो रहे हैं। ऐसे में अब हर किसी की नजर इसपर है कि सचिन पायलट क्या कदम उठाएंगे। पायलट लगातार 25 से अधिक विधायक होने का दावा कर रहे हैं।
PunjabKesari
वहीं, सचिन पायलट के करीबी सूत्रों ने बताया कि सचिन पायलट ने किसी आलाकमान नेता से बात नहीं की है और न ही समझौते के लिए कोई शर्त रखी है। सूत्रों ने बताया कि अशोक गहलोत के पास बहुमत नहीं है। अगर बहुमत है तो उन्हें राज्यपाल के पास जाना चाहिए था, विधायकों को होटल ले जाने की क्या जरूरत थी।
PunjabKesari
बता दें कि सचिन पायलट को मनाने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी एक्शन मोड में आ गई हैं। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता उनके संपर्क में हैं। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। पायलट ने रविवार को गहलोत के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोल लिया था और दावा किया था कि उनके पास 30 से अधिक विधायकों का समर्थन है और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है।
PunjabKesari
सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने पायलट से बात की है और उनसे कहा है कि वे मुख्यमंत्री के खिलाफ बगावत नहीं करें। उन्हें उनकी चिंताओं को दूर करने का विश्वास भी दिलाया गया है। सूत्रों के अनुसार, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने पायलट से बात की है। इसके साथ ही अहमद पटेल, पी चिदंबरम और केसी वेणुगोपाल ने भी उनसे संपर्क किया है। कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बातचीत में सचिन पायलट ने जो भी मुद्दे रखे हैं, उनके निराकरण का विश्वास दिलाया गया है। 


Yaspal

Related News