पेनेसिया बायोटेक ने डेंगीआल वैक्सीन के पहले एवं दूसरे चरण का चिकित्सकीय अध्ययन किया पूरा

2020-09-24T20:09:21.37

नई दिल्लीः दवा कंपनी, पेनेसिया बायोटेक ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने अपने डेंगीआल वैक्सीन की सुरक्षा और प्रतिरक्षा के मूल्यांकन के लिए पहले एवं दूसरे चरण का क्लिनिकल ​​अध्ययन सफलता पूर्वक पूरा कर लिया है। 

पेनेसिया बायोटेक ने एक नियामकीय सूचना में बीएसई को बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, डेंगू 10 सबसे बड़े वैश्विक स्वास्थ्य खतरों में से एक है और सुरक्षित और प्रभावी वैक्सीन तक पहुंच कायम कराना महत्वपूर्ण ह। यह महामारी वाले क्षेत्रों में डेंगू बुखार के विनाशकारी प्रभाव को कम कर सकता है। डेंगीआल एक एकल-खुराक वाला वैक्सीन है जो डेंगू वायरस के सभी चार प्रकारों के लिए प्रभावी है। 

पेनेसिया बायोटेक के प्रबंध निदेशक राजेश जैन ने कहा, ‘‘डेंगीआल के पहले एवं दूसरे चरण के अध्ययन के परिणाम कोविड-19 महामारी के संदर्भ में और भी अधिक महत्वपूर्ण हैं। भारत जैसे डेंगू मामलों वाले देश में डेंगू और कोविड-19 का सह-संक्रमण, उपचार एवं स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे पर भारी दबाव बना सकता है और इलाज में जटिलता ला सकता है। 

उन्होंने कहा कि कंपनी ने पहले ही भारतीय औषधि महानियंत्रक (ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया अथवा डीसीजीआई) से संपर्क किया है ताकि उसके डेटा (आंकड़ों) की त्वरित मान्य समीक्षा हो और डेंगीआल को जल्दी बाजार में लाया जा सके और देश के स्वास्थ्य ढांचे पर बोझ कम हो। 


Pardeep

Related News