पाकिस्तान में नहीं होगी 19 वीं सार्क समिट, सदस्य देशों में नहीं बनी सहमति

2020-09-24T22:49:27.907

नई दिल्लीः कोविड-19 की वैश्विक महामारी के बीच दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संघ (दक्षेस) की आज डिजिटल प्लेटफार्म पर मंत्रिस्तरीय अनौपचारिक बैठक हुई जिसमें दक्षेस की 19वीं बैठक पाकिस्तान में आयोजित करने को लेकर सहमति नहीं बन पाई। 

विदेश मंत्रालय ने कहा कि नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञावाली की अध्यक्षता में दक्षेस के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की अनौपचारिक बैठक वर्चुअल रूप में हुई जिसमें सभी आठ देशों के मंत्रियों ने शिरकत की। ज्ञावाली ने अपने संबोधन में वैश्विक महामारी के दौरान क्षेत्रीय सहयोग को मजबूत करने के लिए सामूहिक प्रयास के महत्व को रेखांकित किया तथा दक्षेस की प्रक्रिया को पुनर्जीवित करके परिणामोन्मुखी बनाने पर जोर दिया। सदस्य देशों के मंत्रियों ने अपने अपने संबोधन में उनके देशों में दक्षेस के निर्णयों के क्रियान्वयन एवं कोविड के कारण उत्पन्न हुई चुनौतियों से निपटने के लिए नई पहल के बारे में जानकारी साझा की। 

मंत्रियों ने इस महामारी से मुकाबले के लिए सामूहिक प्रयास करने पर बल देते हुए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मार्च में वर्चुअल शिखर-सम्मेलन में घोषित पहल की सराहना की। दक्षेस के महासचिव इसाला रुवान वीराकून ने प्रगति रिपोटर् पेश की। सूत्रों के अनुसार बैठक का एक एजेंडा 19वें शिखर सम्मेलन का आयोजन भी था जिसकी मेजबानी पाकिस्तान को करनी है। इस पर ज्यादातर देशों ने माना कि सभी देश कोविड की स्थिति से निपटने में लगे हुए हैं और इसलिए शिखर-सम्मेलन के लिए यह उचित समय नहीं है। आम सहमति के अभाव में प्रस्ताव गिर गया। 


Pardeep

Related News