पाकिस्तान पर FATF का खौफः ब्लैक लिस्ट से बचने के लिए बनाई अनुपालन रिपोर्ट

10/10/2019 2:52:20 PM

इस्लामाबाद:  पाकिस्तान ने धन शोधन रोधी निगरानी संस्था (FATF) की पेरिस में  12 से 15 अक्टूबर के बीच होने वाली बैठक के लिए अनुपालन रिपोर्ट तैयार  कर ली है।  इसी बैठक में यह संस्था पाकिस्तान के ‘ग्रे लिस्ट' दर्जे के बारे में फैसला सुनाएगी। पेरिस की इस संस्था ने पाकिस्तान को पिछले वर्ष जून में ग्रे सूची में डाला था। साथ ही पाकिस्तान को कार्ययोजना दी थी जो उसे अक्टूबर 2019 तक पूरा करना थी। ऐसा नहीं होने की स्थिति में पाकिस्तान का नाम काली सूची में डाला जाना था, जिसमें फिलहाल ईरान और उत्तर कोरिया हैं।

PunjabKesari

पाकिस्तान के प्रदर्शन का आकलन करने के बाद यह फैसला होगा कि वह ग्रे लिस्ट में ही बना रहता है अथवा उसे काली सूची में डाला जाएगा या फिर उसे क्लीन चिट मिल जाएगी। एशिया पेसिफिक समूह (APG) की ओर से शनिवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया कि इस बात की संभावना अधिक है कि पाकिस्तान ग्रे लिस्ट में ही बना रहेगा क्योंकि देश को उस सूची में डालते वक्त संस्था ने जो 40 अनुशंसाएं की थी उनमें से पाकिस्तान ने केवल एक का ही पालन किया है। आर्थिक मामलों के प्रभाग के मंत्री हमाद अजहर के नेतृत्व में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंड फ्रांस के लिए 13 अक्टूबर को रवाना होगा। डॉन के मुताबिक पाकिस्तान के मामले को 14 तथा 15 अक्टूबर को देखा जाएगा।

PunjabKesari

पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि बीते एक वर्ष में उन्होंने खासी प्रगति की है। दैनिक के मुताबिक पाकिस्तान के प्रतिभूति एवं विनियम आयोग ने एक रिपोर्ट तैयार की है जिसके मुताबिक आयोग द्वारा विकसित व्यापक दिशा-निर्देशों से वित्तीय संस्थानों को एक वर्ष के भीतर 219 संदेहास्पद लेनदेन रिपोर्ट (एसटीआर) तैयार करने में मदद मिली है, इसकी तुलना में बीते आठ वर्ष में ऐसी केवल 13 एसटीआर तैयार हो पायी थी। एपीजी की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान में धन शोधन और आतंक के वित्तपोषण का का बहुत जोखिम है और उसे इन जोखिमों को लेकर अपनी समझ को बेहतर बनान होगा। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि ये जोखिम देश में सक्रिय कई आतंकी समूहों की ओर से पैदा हो रहे हैं।  

PunjabKesari


Tanuja

Related News