monsoon session: पेगासस जासूसी पर चर्चा पर अड़ा विपक्ष, हंगामे के बीच लोकसभा में पेश हुए कई विधेयक

2021-08-02T15:07:33.627

नेशनल डेस्क: केंद्र सरकार और विपक्षी दलों के बीच संसद में गतिरोध सोमवार को भी जारी रहा और पेगासस जासूसी विवाद, तीन कृषि कानूनों सहित विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा और लोकसभा में आज भी अच्छे से काम नहीं हो पाया। हालांकि विपक्ष के हंगामे के बीच ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में ‘अधिकरण सुधार विधेयक, 2021' पेश किया। न्यायाधिकरण सुधार विधेयक, 2021 के माध्यम से चलचित्र अधिनियम 1952, सीमा शुल्क अधिनियम 1962, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण अधिनियम 1994, व्यापार चिन्ह अधिनियम 1999, पौधा किस्म एवं कृषक अधिकार संरक्षण अधिनियम 2001 तथा कुछ अन्य अधिनियमों में संशोधन करने का प्रस्ताव किया गया है।

 

लोकसभा
पेगासस जासूसी मामला और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण सोमवार को लोकसभा की कार्रवाई दो बार स्थगन के बाद दोपहर करीब 2 बजरकर 20 मिनट पर 3:30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। पिछले दो हफ्तों की तरह ही सदन में आज भी कामकाज बाधित रहा। सुबह सदन की कार्यवाही आरंभ होने पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने ओलंपिक खेलों में स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू के कांस्य पदक जीतने का उल्लेख किया और बधाई दी जिस पर सभी सदस्यों ने मेजें थपथपाईं। बिरला ने जैसे ही प्रश्नकाल शुरू करवाया, वैसे ही विपक्षी सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए। उन्होंने ‘जासूसी करना बंद करो' और ‘प्रधानमंत्री जवाब दो' के नारे लगाए। कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और कुछ अन्य दलों के सदस्यों की नारेबाजी के बीच ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पुरी, जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा और पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने पूरक प्रश्नों के उत्तर दिए।

 

राज्यसभा
विपक्ष के भारी हंगामे के कारण सोमवार को राज्यसभा की कार्रवाई दो बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजकर 36 मिनट पर एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई है। राज्यसभा में भी अलग-अलग मुद्दों पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Recommended News