धारा 370 हटाने पर अखिलेश ने कहा था खून की नदियां बहेंगी, शाह बोले- कंकड़ चलाने की भी किसी की हिम्मत नहीं हुई

punjabkesari.in Wednesday, Feb 02, 2022 - 03:43 PM (IST)

नेशनल डेस्क: केंद्रीय गृह मंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को विपक्षी दलों खासतौर से समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव पर धारा 370 हटाये जाने का विरोध करने का आरोप लगाते हुए कहा कि यादव ने कहा था कि खून की नदियां बहेंगी। शाह ने कहा कि लेकिन किसी में एक कंकड़ चलाने की भी हिम्मत नहीं हुई। अलीगढ़ के अतरौली विधानसभा क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत कल्‍याण सिंह के पौत्र, उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री व भाजपा उम्मीदवार संदीप सिंह के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने यह बात कही।

अखिलेश बाबू खून की नदियां छोड़ो, कंकड़ चलाने की भी किसी की हिम्मत नहीं हुई 
अपने संबोधन में शाह ने कहा,‘‘ आपने दोबारा प्रधानमंत्री बनाया तो नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर से धारा 370 को हटा दिया। ये (विपक्षी) लोग विरोध करते थे, अखिलेश विरोध करते थे, उनमें (अखिलेश) अतरौली आने की हिम्मत नहीं। उन्होंने मेरे सामने कहा था कि 'खून की नदियां बहेंगी'। अरे, अखिलेश बाबू खून की नदियां छोड़ो, कंकड़ चलाने की भी किसी की हिम्मत नहीं हुई, नरेंद्र मोदी ने देश को सुरक्षित करने का काम किया।'' भाजपा के पूर्व अध्यक्ष ने सपा, बसपा और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा ''ये लोग पारदर्शिता से शासन नहीं कर सकते, भ्रष्टाचार मुक्त शासन नहीं दे सकते, भ्रष्टाचार मुक्त शासन केवल और केवल नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ही दे सकती है।'' अमित शाह ने कहा कि 2014, 2017 और 2019 का चुनाव उत्तर प्रदेश की किस्मत बदलने का चुनाव रहा है और सपा और बसपा की जातिवादी सरकारें कभी राज्य का भला नहीं कर पाएंगी।

शाह ने कल्याण सिंह के साथ अपने रिश्‍तों को किया याद 
शाह ने मतदाताओं को आगाह किया कि अगर राज्य में माफियाओं का राज आया तो प्रधानमंत्री मोदी अलीगढ़ में जो ‘डिफेंस कॉरिडोर' लेकर आए हैं, जिसमें करोड़ों का निवेश होना है, वहां कोई निवेश करने नहीं आएगा। उल्लेखनीय है कि पहले चरण में दस फरवरी को अतरौली में मतदान होना है और इस क्षेत्र का कई बार कल्याण सिंह प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। शाह ने कल्याण सिंह के साथ अपने रिश्‍तों को याद करते हुए कहा,‘‘ 2013 में मुझे उप्र का प्रभारी बनाकर भेजा गया, तब लखनऊ, बनारस के अलावा कहीं गया नहीं था, इतना बड़ा प्रदेश, 80 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ाने की जिम्मेदारी थी, तब तितर-बितर संगठन था और मैं बहुत पशोपेश में था कि क्‍या होगा, कैसे करेंगे मगर मैंने बाबूजी (कल्याण सिंह) से समय मांगा तो उन्होंने समय दिया, घर पर भोजन के लिए बुलाया और पिता की तरह उन्होंने उंगली पकड़कर उत्तर प्रदेश की राजनीति का पाठ सिखाया और उन्हीं की नींव पर आज तीन सरकारें बनीं।''

योगी आदित्‍यनाथ को फिर बनाएं मुख्यामंत्री 
कल्‍याण सिंह के पौत्र को भारी बहुमत से चुनाव जिताने की अपील के साथ ही ब्रज भूमि की जनता से निवेदन करते हुए शाह ने कहा ,‘‘आपने 2014 में मोदी को प्रधानमंत्री बनाया, 2017 में भाजपा की सरकार बनाई, 2019 में फिर से मोदी को प्रधानमंत्री बनाया और अब 2022 में हमारे सफल मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनाने का काम करें।'' गृह मंत्री ने कोरोना वायरस संक्रमण के वक्त सरकार द्वारा जनता को राहत पहुंचाने के लिए किए गए कार्यों की विस्तार से जानकारी दी।

ये राहुल बाबा हैं, जिन्हें फसलों का भी ज्ञान नहीं
उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी जम कर निशाना साधा। शाह ने कहा कि ''ये राहुल बाबा हैं, उनको मालूम नहीं हैं कि खरीफ में कौन सी फसल होती और रबी में कौन सी फसल होती है, किसी ने उनसे कह दिया कि अलीगढ़ जाओ तो आलू की बात करना किसान खुश हो जाएंगे तो राहुल बाबा ने कहा कि हम यहां आलू की फैक्टरी लगा देंगे। जिसको ये मालूम नहीं कि आलू फैक्‍टरी में होता या खेत में लगाते हैं, वे भी कहने लगे कि हम किसानों की समस्या का समाधान करेंगे।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News