देश में कोरोना मरीजों की संख्या 600 पार, अब तक 12 लोगों की हो चुकी है मौत

2020-03-26T09:23:42.44

नई दिल्लीः देश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 600 के पार पहुंच गई। इस बीच,प्रशासन ने हालात से निपटने के लिए तैयारियों को तेज कर दिया है और संक्रमितों के इलाज के लिए सैन्य आयुध फैक्टरियों और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के अस्पतालों में 2,000 बिस्तरों की व्यवस्था पृथक वार्ड के तहत की है। वहीं शिमला के अधिकारी ने बताया कि उपरोक्त तैयारियों के अलावा हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के छात्रावासों के 2,000 कमरों को पृथक केंद्र बनाने के लिए अपने कब्जे में लिया है।
PunjabKesari
कोलकाता में एक अन्य अधिकारी ने बताया कि शहर में 2,200 बिस्तरों के सरकारी अस्पताल में अन्य बीमारियों के नये मरीजों की भर्ती बंद कर दी गई है और जो मरीज अस्पताल में भर्ती हैं एवं उनकी हालत स्थिर हैं उन्हें छुट्टी दी जा रही है ताकि पृथक केंद्र बनाया जा सके।
PunjabKesari
अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों के दल का आकलन है कि अगर मामलों के बढ़ने की गति यही रही तो मई के मध्य तक देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या करीब एक लाख तक पहुंच जाएगी। अंत:विषय शोधकर्ताओं के दल ‘‘कोव-इंड-19 अध्ययन समूह'' द्वारा संकलित रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने महामारी के शुरुआती दौर में अमेरिका और इटली जैसे देशों के मुकाबले कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए बेहतर काम किया। हालांकि, वास्तविक संक्रमित मामलों के आकलन पर आलोचनात्मक टिप्पणी की गई है।
PunjabKesari
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में 116 और केरल में 109 मामलों के साथ देशभर में 612 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जिनमें 562 का इलाज चल रहा है और 40 ठीक हो चुके हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से 12 लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें तमिलनाडु में बुधवार को हुई पहली मौत भी शामिल है। पूरे देश में कोरोना वायरस से मौतों की संख्या में महाराष्ट्र में हुई तीसरी मौत को शामिल नहीं किया गया जैसा कि बृह्न मुंबई महानगर पालिका ने मंगलवार को दावा किया था।
PunjabKesari
मंत्रालय द्वारा मंगलवार को कोरोना वायरस से दिल्ली में दूसरी मौत की पुष्टि की गई थी लेकिन हालिया आंकड़े में इसे शामिल नहीं किया क्योंकि यह मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से नहीं हुई है। इस बीच, दिल को सुकून देने वाली घटना देखने को मिली। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से संक्रमित पहले मरीज, पुणे का एक दंपत्ति जब ठीक होकर बुधवार दोपहर घर पहुंचा तो सोसाइटी के लोगों ने भावनात्मक स्वागत किया। पुणे के सिंहगढ़ रोड स्थित हाउसिंग सोसाइटी में जब 51 वर्षीय व्यक्ति और 43 वर्षीय उनकी पत्नी इलाज कराकर और पूरी तरह से ठीक होकर आए तब सोसाइटी के सभी लोगों ने बालकनी में ताली बजाकर और बर्तन बजाकर उनका स्वागत किया।

 


Yaspal

Related News