गुजरात में 2007 के बाद पोलियो का एक भी मामला दर्ज नहीं: रूपाणी

2020-01-19T22:52:17.953

गांधीनगरः गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने रविवार को कहा कि राज्य में वर्ष 2007 के बाद पोलियो का एक भी मामला दर्ज नहीं हुआ है। रूपाणी ने आज पोलियो रविवार के अंतर्गत राज्यव्यापी पोलियो अभियान का शुभारम्भ करते हुए कहा कि 33641 बूथ और 67282 टीमों द्वारा कुल एक लाख 53 हजार स्वास्थ्यकर्मी इस अभियान में भाग लेंगे। इसमें शून्य से पांच वर्ष के 80 लाख से ज्यादा बालकों को शामिल किया जाएगा।
PunjabKesari
जिस तरह मतदान केन्द्र बनाकर ध्यान रखा जाता है कि कोई मतदाता मतदान से वंचित ना रह जाए। उसी प्रकार इस पोलियो अभियान में भी राज्य का शून्य से पांच वर्ष का कोई बालक पोलियो टिका पिए बगैर ना रह जाए राज्य सरकार ने इसका खयाल रखा है। उन्होंने कहा कि इस सघन अभियान के कारण वर्ष 2007 के बाद पोलियो का एक भी मामला दर्ज नहीं हुआ है। भविष्य में भी कभी किसी बालक को पोलियो नहीं हो, इसका हम संकल्प करें। बालकों की सर्वांगीण स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए भारत सरकार द्वारा मिशन इन्द्रधनुष के अंतर्गत पंचगुणी टीका दिया जाता है।
PunjabKesari
व्यापक तौर पर टीकाकरण से डिप्थीरिया, धनुर, जहरी पीलिया, गलघोंटु और इंफ्लुएंजा जैसे रोगों से बालकों की सुरक्षा करने का अभियान चलाया गया है। मुख्यमंत्री ने अपील करते हुए कहा कि स्वस्थ गुजरात- पोलियोमुक्त गुजरात- तन्दुरुस्त गुजरात के लिए प्रत्येक माता-पिता को अपने शून्य से पांच वर्ष के बालक को आज पोलियो रविवार पर दो बूंद अवश्य पिलानी चाहिए। इस अवसर पर स्वास्थ्य अग्र सचिव डॉ. जयंती रवि, स्वास्थ्य आयुक्त जयप्रकाश शिवहरे, गांधीनगर की मेयर श्रीमती रीटाबेन पटेल भी उपस्थित थीं। मंत्रिमंडल निवास संकुल के कम्युनिटी सेंटर में बालकों को पोलियो टिका पिलवाने के लिए माताएं और अभिवावक बड़ी तादाद में उपस्थित थे।


Pardeep

Related News