भारत के जवाबी एक्शन पर झुकी ब्रिटेन सरकार, टीका लगवा चुके भारतीयों को क्वारंटीन से दी छूट

10/08/2021 9:59:02 AM

लंदनः कोरोना नियमों को लेकर भारत सरकार के सख्त एक्शन के बाद  ब्रिटेन सरकार ने झुकते हुए भारतीयों के लिए कोरोना यात्रा प्रतिबंधों  को लेकर बड़ा ऐलान किया है। ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि 11 अक्टूबर से कोविशील्ड या  इंगलैड में मंजूरी पाए किसी अन्य वैक्सीन को लगवाने वाले भारतीय यात्रियों को क्वारंटीन नहीं किया जाएगा।

PunjabKesari

दरअसल बोरिस जॉनसन सरकार के भारतीयों के लिए कड़े नियमों को लागू करने पर अक्टूबर के शुरुआत में ही भारत ने भी जैसे को तैसा वाला फंडा अपनाते हुए ब्रिटिश नागरिकों को भी अनिवार्य क्वारंटीन होने का फरमान सुना दिया था।  यूके के अब यात्रा संबंधी नए अपडेट के अनुसार भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने ट्वीट कर कहा कि कोविशील्ड या यूके सरकार से अनुमोदित किसी अन्य वैक्सीन की पूरी डोज लिए भारतीय यात्रियों को क्वारंटीन नहीं किया जाएगा। यह आदेश 11 अक्टूबर से यूनाइटेड किंगडम जाने वाले भारतीय यात्रियों पर लागू होगा।

 PunjabKesari
भारत की सख्त चेतावनी के बाद सितंबर में ब्रिटेन ने कोविशील्ड को मान्यता तो दे दी थी, लेकिन इसमें क्वारंटीन का कड़ा नियम लागू कर दिया था। भारत अबतक ब्रिटेन के एंबर लिस्ट में था, ऐसे में वैक्सीन लगवाने के बाद भी ब्रिटेन जाने वाले भारतीय नागरिकों को क्वारंटीन रहना पड़ता था। भारत सरकार ने ब्रिटेन के इस रवैये को लेकर कई बार सार्वजनिक तौर पर नाराजगी जताई थी। भारत सरकार ने ब्रिटेन के अड़ियल रवैये को देखते हुए सख्‍त रुख अपनाया था।

PunjabKesari

अक्टूबर की शुरूआत में भारत सरकार ने ब्रिटिश नागरिकों को भारत आने पर 10 दिन अनिवार्य रूप से क्‍वारंटीन रहने का हुक्म सुनाया था। फिर चाहे उनके वैक्‍सीनेशन का स्‍टेटस कुछ भी हो। भारत के नए नियम चार अक्टूबर से लागू भी हो गए थे। ब्रिटिश नागरिकों के लिए यात्रा से पहले 72 घंटे के भीतर प्री-डिपार्चर कोविड-19 आरटी-पीआरसी टेस्‍ट जरूरी किया गया था। एयरपोर्ट आगमन पर उनका कोविड-19 आरटी-पीसीआर टेस्‍ट भी होगा। फिर आगमन के 8 दिन बाद दोबारा कोविड-19 आरटी-पीसीआर टेस्ट होगा।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News