नीति आयोग के बिगड़े बोल, कहा- कश्मीर में गंदी फिल्मों को देखने के लिए होता है इंटरनेट का प्रयोग

2020-01-19T16:42:17.507

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट बैन को लेकर नीति आयोग के सदस्य वीके सारस्वत ने बड़ा शर्मनाक बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इलाके में इंटरनेट सेवा का इस्तेमाल गंदी फिल्में देखने में होता है।सारस्वत के बयान के बाद उनकी हर तरफ आलोचना हो रही है। हालांकि इसके थोड़ी देर बाद उन्होंने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उनके कहने का मतलब थाकि कश्मीर में इंटरनेट बंद होने से अर्थव्यस्था पर कोई खास असर नहीं पडेगा।

 

पढ़ें, क्या कहा इंटरनेट पांबदी पर
दरअसल सारस्वत ने कहा, 'अगर कश्मीर में इंटरनेट न हो तो क्या फर्क पड़ता है। आप इंटरनेट पर क्या देखते हैं। वहां क्या ई-टेलिंग हो रही है। गंदी फिल्में देखने के अलावा आप इंटरनेट पर कुछ भी नहीं करते हैं।'  सारस्वत के इस बेतुके बयान की हर तरफ निंदा की जा रही है। बता दें बीते साल पांच अगस्त से अनुच्धेद-370 हटाने जाने के बाद से जम्मू-कस्मीर में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया था। वहीं शनिवार को प्रीपेड कॉल और एसएमएस और 2जी इंटरनेट सेवा शुरू कर दी गई हैं। 

मंत्रियों के कश्मीर दौरे खड़े किए सवाल
सारस्वत ने केंद्रीय मंत्रियों के कश्मीर दौरे को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा, 'राजनेता कश्मीर क्यों जाना चाहते हैं। क्या वे कश्मीर में भी दिल्ली की तर्ज पर सड़कों पर हो रहे विरोध प्रदर्शनों को खड़ा करना चाहते हैं।' उन्होंने कहा कि राजनेता विरोध प्रदर्शनों को हवा देने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं। गौरतलब है कि केंद्र सरकार के 36 मंत्रियों का 25 जनवरी तक जम्मू-कश्मीर के दौरे का कार्यक्रम है। 


Author

rajesh kumar

Related News