कोविड-19 वर्कशॉप: बैठक में PM मोदी बोले- एकजुटता के बिना एशिया की नहीं हो सकती है 21वीं सदी

2021-02-18T17:26:34.84

नेशनल डेस्क: वैश्विक महामारी कोविड-19 के प्रबंधन के लिए आयोजित एक वर्कशॉप को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान दिखाई गई क्षेत्रीय एकजुटता ने साबित किया है कि ऐसा सहयोग संभव है।

PunjabKesari

कोविड-19 प्रबंधन: अनुभव, अच्छी कार्यप्रणाली और भावी राह पर विस्तारित पड़ोसियों सहित 10 पड़ोसी देशों के साथ आयोजित एक कार्यशाला को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सहयोग की भावना इस महामारी की महत्वपूर्ण सीख है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि 21वीं शताब्दी को एशिया की शताब्दी बनाना है तो यह दक्षिण एशियाई देशों और हिंद महासागर के द्वीपीय देशों के बीच व्यापक सहयोग के बगैर नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान दिखाई गई क्षेत्रीय एकजुटता ने साबित किया है कि ऐसा सहयोग संभव है। 

PunjabKesari

मोदी ने कहा कि खुलेपन और दृढ़ता की वजह से यह क्षेत्र पूरे विश्व में सबसे कम मृत्यु दर बनाए रखने में सफल हुआ। उन्होंने बताया कि विशेषज्ञों ने इस क्षेत्र के जनसंख्या घनत्व को देखते हुए महामारी को लेकर तमाम तरह की आशंकाएं जताई थीं लेकिन इसके बावजूद विश्व के अन्य देशों के मुकाबले इस क्षेत्र में मृत्यु दर सबसे कम रही। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि विश्व और पूरे क्षेत्र की उम्मीदें अब टीकों की तेज गति से उपलब्धता पर टिकी हुई हैं और सभी को इस सहयोगात्मक भावना को बरकरार रखना चाहिए। स्वास्थ्य के क्षेत्र में इन देशों के बीच सहयोग की सराहना करते हुए मोदी ने कहा कि अब लक्ष्यों को और आगे बढ़ाने की जरूरत सहयोग की भावना को आगे बढ़ाने के सिलसिले में उन्होंने कई अहम सुझाव भी दिए।


Content Writer

Anil dev

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News