साल 2020 भाजपा- कांग्रेस पर रहा भारी, कई दिग्गज नेताओं ने दुनिया को कहा अलविदा

2020-11-25T16:22:06.6

नेशनल डेस्क: साल 2020 भारत के लिए कई चुनौतियों के साथ साथ गम भी लेकर आया। कोरोना वायरस के भारी संकट को झेल रहे देश के सामने कुछ ऐसे भी पल आए जिससे सबकी आंखे नम हो गई। इस साल हमने उन दिग्गजों को खोया है जिन्होंने अपनी अलग पहचान बनाई। 2020 में सबसे अधिक क्षति कांग्रेस को पहुंची। एक के बाद एक कद्दावर नेताओं के निधन से पार्टी को गहरा सदमा लगा है। जहां कांग्रेस ने अहमद पटेल, तरुण गोगोई, प्रणब मुखर्जी जैसे नेताओं को खोया तो वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिग्गज नेता जसवंत सिंह के निधन ने भाजपा को गहरी चोट दी। जानिए 2020 में किन किन नेताओं ने दुनिया को कहा अलविदा:-

 

अहमद पटेल: 25 नवंबर 2020 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने 25 नवंबर 2020 यानी आज अपनी अंतिम सांस ली। उनके बेटे फैसल पटेल ने ट्विटर पर अपने पिता के निधन की जानकारी साझा की। फैसल ने लिखा कि मेरे पिता के एक साथ कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से उनका निधन हो गया। 71 वर्षीय पटेल एक महीना पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। उन्हें 15 नवंबर को मेदांता अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी समेत कई दिग्गज नेताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है। 

 

तरुण गोगोई: 23 नवंबर 2020
पटेल के निधन से दो दिन पहले ही यानी 23 नवंबर 2020 को असम में पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन हो गया था। 86 साल की उम्र पार कर चुके वरिष्ठ कांग्रेस नेता गोगोई के अंगों ने भी काम करना बंद कर दिया था। वह भी 25 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और उन्हें जीएमसीएच में भर्ती कराया गया था। तरुण गोगोई तीन बार असम के मुख्यमंत्री रहे। उन्होंने अपना राजनीतिक सफर 1968 में शुरू किया था। 

 

रामविलास पासवान: 8 अक्टूबर 2020
लोक जनशक्ति पार्टी के संस्‍थापक व केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री रामविलास पासवान के निधन से भी देश को गहरा सदमा लगा था। उनके दिल और किडनी ने ठीक से काम करना बंद कर दिया था। इस वजह से कुछ दिनों से उन्हें आइसीयू में एक्मो मशीन के सपोर्ट पर रखा गया था।  उनके निधन के बाद शोक में राष्‍ट्रपति भवन सहित पूरे देश में राष्‍ट्रध्‍वज झुका दिया गया था। मोदी कैबिनेट में उपभोक्ता, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मामलों के मंत्री रहे पासवान 1969 में पहली बार विधायक चुने गए थे। इसके बाद उन्होंने कभी मुड़कर नहीं देखा। 

 

जसवंत सिंह: 27 सितंबर 2020
27 सितंबर 2020 को राजस्थान के बाड़मेर से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ व दिग्गज नेता जसवंत सिंह ने दुनिया से अलविदा बोल दिया था। उनके निधन से भारतीय पार्टी जनता पार्टी को गहरा सदमा लगा था। जसवंत सिंह के राजनीति और समाज को लेकर उनके अलग तरह के नजरिए के लिए हमेशा याद किया जाएगा। भाजपा को मजबूत करने में भी उनका अहम योगदान रहा था। उन्होंने भारतीय सेना के बाद विभिन्न दायित्व पर कार्य कर देश सेवा की। वह रक्षा एवं वित्त मंत्री व अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में कपड़ा मंत्री भी रहे। 

 

प्रणब मुखर्जी: 31 अगस्त 2020
31 अगस्त 2020 को देश को गहरा सदमा लगा था। कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का 84 वर्ष में निधन हो गया था। वे मस्तिष्क में रक्त के एक थक्के के ऑपरेशन के लिए अस्पताल गए थे जहां वो जांच में कोरोना पॉज़िटिव भी पाए गए थे। पूर्व राष्ट्रपति के सम्मान में केंद्र ने सात दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी की गई थी। देश की राजनीति में उनके योगदान को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी की अगुआई वाली एनडीए सरकार ने उन्हें भारत रत्न की उपाधि से भी सम्मानित किया था। 


vasudha

Recommended News