See More

PM मोदी ने लिया 'अम्फान' से तबाही का जायजा, मदद के लिए किया 1000 करोड़ रुपए का ऐलान

2020-05-22T14:20:06.72

नेशनल डेस्कः चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ की स्थिति का जायजा लेने पश्चिम बंगाल पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य को एक हजार करोड़ रुपए की अंतरिम मदद देने की घोषणा की। शुक्रवार को उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट में राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ स्थिति की समीक्षा के बाद एक वीडियो संदेश में पीएम मोदी ने चक्रवात ‘अम्फान’ की चपेट में आकर जान गंवाने वाले लोगों के परिवार को दो-दो लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा भी की। चक्रवात की चपेट में आने से अभी तक राज्य में कम से कम 80 लोगों की जान जा चुकी है।

 

उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मिदनापुर, कोलकाता, हावड़ा और हुगली जिलों में बुनियादी ढांचे, सार्वजनिक और निजी संपत्ति को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा है। मोदी ने कहा कि मैं राज्य को 1,000 करोड़ रुपये की अंतरिम मदद देने की घोषणा करता हूं। घरों के अलावा कृषि, बिजली और अन्य क्षेत्रों को पहुंचे नुकसान का विस्तृत आकलन किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि संकट और निराशा के इस समय में पूरा देश और केन्द्र बंगाल के लोगों के साथ है।

 

PunjabKesari

पीएम मोदी ने ममता बनर्जी की अपील को मानते हुए शुक्रवार को बंगाल और ओडिशा का दौरा करने की बात कही। पीएम मोदी 83 दिनों के बाद दिल्ली से बाहर निकले हैं। दरअसल देश में कोरोना के कहर को देखते हुए देशभर में 25 मार्च से लॉकडाउन लगा हुआ है। इस दौरान पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही कई कार्यक्रमों में सिरकत की है, वे दिल्ली से बाहर नहीं गए।

PunjabKesari

लॉकडाउन के पहले से पीएम मोदी दिल्ली से बाहर नहीं गए हैं तो ऐसे में आज पूरे 83 दिनों बाद पीएम मोदी दिल्ली से बाहर बंगाल और ओडिशा का दौरा किया। इससे पहले गुरुवार को पीएम मोदी ने ट्वीट किया था कि मैंने चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ द्वारा पश्चिम बंगाल में मचाई गई तबाही के दृश्य देखा। इस चुनौतीपूर्ण समय में पूरा देश पश्चिम बंगाल के साथ एकजुटता से खड़ा है। राज्य के लोगों की अच्‍छी सेहत एवं खुशहाली की मंगल-कामना करता हूं। पीएम मोदी ने कहा था कि केंद्र राज्य सरकार की हरसंभव मदद करेगा। 

PunjabKesari

 बता दें कि बुधवार को पश्चिम बंगाल और ओडिशा में अम्फान तूफान ने दस्तक दी थी। 160 से 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाले अम्फान तूफान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी तबाही मचाई। चक्रवात अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल में कम से कम 72 लोगों की मौत हो गई है तथा कई पुलों एवं अन्य इमारतों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।


Seema Sharma

Related News