See More

भारत की पहली कोरोना वैक्सीन कोवाक्सिन को मिली मानव परीक्षण की अनुमति, अगले महीने शुरू होंगे ट्रायल

2020-06-30T06:01:22.223

नई दिल्लीः भारत की कोविड-19 की पहली संभावित वैक्सीन कोवाक्सिन (COVAXIN) को दवा नियामक डीजीसीआई से पहले और दूसरे चरण के लिए मानव परीक्षण की अनुमति मिल गई है। इस वैक्सीन को भारत बायोटेक ने विकसित किया है। वैक्सीन का इंसानों पर परीक्षण इस साल जुलाई से शुरू करने की योजना है। 
PunjabKesari
इस वैक्सीन को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान संस्थान  (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) के सहयोग से विकसित की गई है। वायरस के स्ट्रेन को पुणे स्थित एनआईवी में आईसोलेट किया गया था और भारत बायोटेक को भेजा गया था, जहां इस स्वदेशी वैक्सीन को विकसित किया गया। 
PunjabKesari
बता दें कि इस समय दुनियाभर में कोरोना वायरस की 100 से ज्यादा वैक्सीन पर काम चल रहा हैस लेकिन अभी भी इस क्षेत्र में सफलता नहीं मिल पाई है। आज ही चीन में भी आज एक वैक्सीन को सैन्य इस्तेमाल की अनुमति दी गई। इस वैक्सीन को चीनी सेना की रिसर्च यूनिट और कैनसिनो बायोलॉजिक्स ने विकसित किया है। 
PunjabKesari
यह Ad5-nCoV वैक्सीन चीन की उन आठ संभावित वैक्सीन में शामिल हैं जिन्हें इंसानों पर ट्रायल की अनुमति मिली है। हालांकि, कैनसिनो ने कहा कि अभी यह वैक्सीन केवल सैन्य प्रयोग के लिए होगी क्योंकि लॉजिस्टिक्स विभाग की अनुमति के बिना इसका बड़े स्तर पर प्रयोग नहीं किया जा सकता। 


Pardeep

Related News