करतारपुर साहिब को लेकर भारत ने पाक पर उठाए सवाल, कहा- यह अल्पसंख्यक विरोधी है

2020-12-03T10:30:53.71

नेशनल डेस्क:  भारत ने एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को जमकर फटकार लगाई है। भारत ने पाकिस्तान को दुनियाभर की शांति के लिए खतरनाक बताते हुए कहा कि इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जरूरत है। इसके साथ ही आतंकवाद, धर्म और धार्मिक स्थल करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के प्रबंधन को लेकर भी पाकिस्तान पर सवाल उठाए गए। भारत ने कहा कि पाकिस्तान अल्पसंख्यक विरोधी है। 

यह भी पढ़ें:  नहीं रहे MDH 'मसाला किंग' धर्मपाल गुलाटी, 98 साल की उम्र में हुआ निधन
 

आतंकवाद  दुनिया के समक्ष एक बड़ा संकट 
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव आशीष शर्मा ने  नाम लिए बगैर कहा कि आतंकवाद  दुनिया के समक्ष एक बड़ा संकट है।  उन्होंने कहा कि  आतंकवाद समकालीन भारत में युद्ध छेड़ने के माध्यम के रूप में सामने आया है और इससे पृथ्वी पर उसी तरह का नरसंहार होने का खतरा है, जो दोनों विश्व युद्धों के दौरान देखा गया था। 

यह भी पढ़ें: ​​​​​​  आज इन बड़ी खबरों पर रहेगी देश की नजर
 

भारत ने कतारपुर साहिब गुरुद्वारे का किया उल्लेख
आशीष शर्मा ने आगे कहा कि पाकिस्तान ने सिखों के धार्मिक स्थल करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के प्रबंधन में बदलाव करते हुए इसे सिख समुदाय की जगह गैर-सिख समुदाय के प्रशासनिक नियंत्रण में स्थानांतरित कर दिया है। पाकिस्तान की ओर से उठाया गया ये कदम सिख धर्म और उसके संरक्षण के खिलाफ है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र को याद दिलाते हुए कहा कि आपको याद होगा कि करतारपुर साहिब गुरुद्वारे का उल्लेख पहले के प्रस्ताव में भी था, जिसका पाकिस्तान की ओर से पहले भी उल्लंघन किया जा चुका है।

 

आतंकवाद  के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जरूरत 
भारत ने कहा कि अगर पाकिस्तान भारत में धर्मों के खिलाफ नफरत की अपनी मौजूदा संस्कृति को बदलता है और हमारे लोगों के खिलाफ सीमा पार आतंकवाद के अपने समर्थन को रोकता है तो हम दक्षिण एशिया और उसके बाहर शांति की वास्तविक संस्कृति का प्रयास कर सकते हैं। इससे पहले भी आतंकवाद के मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान को घेरा। भारत ने संयुक्त राष्ट्र के मंच पर कहा कि आतंकवाद का समर्थन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जरूरत है। 
 


vasudha

Recommended News