'निर्भया' गैंगरेप: गृह मंत्रालय ने दोषी की दया याचिका की फाइल राष्ट्रपति को भेजी

12/6/2019 4:27:35 PM

नई दिल्लीः गृह मंत्रालय ने निर्भया बलात्कार मामले के एक दोषी विनय शर्मा की दया याचिका के संबंध में अपनी सिफारिश राष्ट्रपति को भेज दी है। अभी यह नहीं पता चला है कि गृह मंत्रालय ने अपनी सिफारिश में क्या कहा है। विनय शर्मा निर्भया बलात्कार मामले के चार दोषियों में से एक है और उसने फांसी की सजा के खिलाफ दया याचिका दायर की है। यदि गृह मंत्रालय भी विनय शर्मा की दया याचिका को खारिज करने की सिफारिश करता है तो निर्भया बलात्कार मामले के चारों दोषियों को फांसी की सजा का रास्ता साफ हो जाएगा। बता दें कि केजरीवाल सरकार पहले ही आरोपियों की दया याचिका खारिज कर चुकी है।

PunjabKesari

केजरीवाल सरकार ने याचिका खारिज करते हुए लिखा था-माफी नहीं। दोषियों ने सबसे पहले दिल्ली सरकार के सामने दया याचिका लगाई थी। दया याचिका को खारिज करते हुए दिल्ली सरकार ने अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेज दी थी। जिसके बाद आज गृह मंत्रालय ने इसे  राष्ट्रपति के पास भेज दिया। अब सबकी निगाहें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पर हैं कि वह दया याचिका पर क्या फैसला लेते हैं। महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने राष्ट्रपति से अनुरोध किया है कि वे आरोपियों की दया याचिका खारिज कर दे ताकि निर्भया को भी इंसाफ मिल सके।

PunjabKesari

बता दें कि 2012 में राजधानी दिल्ली में निर्भया के साथ साथ हुई दरिंदगी के बाद आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई थी। 16 दिसंबर को इस घटना को 7 साल पूरे हो रहे हैं, लेकिन अभी तक आरोपियों को फांसी होनी बाकी है। हैदराबाद में महिला डॉक्टरों के साथ हैवानियत करने वाले दोषियों को पुलिस ने आज सुबह एनकाउंटर में मार गिराया। जिसके बाद से निर्भया की मां आशा देवी की भी प्रतिक्रिया आई।

PunjabKesari

उन्होंने कहा कि इस बात की खुशी है कि हैदराबाद की बेटी को इंसाफ मिल गया और उम्मीद है कि मेरी बच्ची को भी जल्द इंसाफ मिलेगा। उन्होंने कहा कि जिस दिन निर्भया के आरोपियों को फांसी मिलेगी उस दिन में बच्ची को असल इंसाफ मिलेगा। उन्होंने कहा कि मेरी लड़ाई आरोपियों को सजा दिलाने तक जारी रहेगा।

PunjabKesari

निर्भया के साथ राजधानी दिल्ली में 16 दिसम्बर 2012 की रात गैंगरेप किया गया था। दोषियों ने उसके साथ मारपीट भी की थी जिसमें उसे गंभीर चोटें आईं थीं और बाद में उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में छह लोगों को दोषी पाया गया था जिनमें से चार मुकेश, पवन, विनय शर्मा और अक्षय कुमार सिंह को मौत की सजा सुनाई गई है। पांचवें अभियुक्त राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी जबकि छठा अभियुक्त उस समय नाबालिग था और उसे तीन वर्ष की कैद की सजा सुनाई गई थी।


Seema Sharma

Related News