जापान के राजदूत बोले- तेज गति से हो रहा हाईस्पीड रेल प्रोजेक्ट का काम, यह PM मोदी के नारे का असर

punjabkesari.in Tuesday, Apr 12, 2022 - 03:04 PM (IST)

नेशनल डेस्क: जापान के राजदूत सातोशी सुजुकी ने मंगलवार को यहां मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड रेल परियोजना के निर्माण में प्रगति का जायजा लिया और काम की गति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि यह हाईस्पीड रेलवे लाइन भारत-जापान रिश्तों को नई ऊंचाई पर पहुंचाएगी। सुजुकी ने यहां इस परियोजना के सबसे पहले बनने वाले सूरत हाईस्पीड स्टेशन के निर्माण स्थल, सेग्मेंट तथा गडर्र निर्माण कार्य स्थल का दौरा किया।

 

इस मौके पर उनके साथ राष्ट्रीय हाईस्पीड रेल निगम के प्रबंध निदेशक सतीश अग्निहोत्री और दोनों देशों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। सुजुकी ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि हाईस्पीड रेलवे भारत जापान संबंधों का एक महत्वपूर्ण फ्लैगशिप कार्यक्रम है और जापान इस बारे में अपनी आधुनिकतम प्रौद्योगिकी भारत को देगा ताकि भारत अपने बल पर और भी हाईस्पीड रेल परियोजनाएं बना सके। हाईस्पीड रेलवे परियोजना भारत और जापान के रिश्तों को नई ऊंचाई पर ले जाएगी। उन्होंने कहा कि हाल ही में जापान के नए प्रधानमंत्री फूमियो किशिदा भारत की यात्रा पर आए थे और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ इस परियोजना की समीक्षा करके प्रगति पर संतोष व्यक्त किया था।

 

इसी क्रम में वह आज इसके निर्माण को देखने आये हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने वन प्रोजेक्ट वन टीम का नारा दिया है। इसी नारे के आधार पर काम हो रहा है। दो साल पहले वह साबरमती गए थे तब कोई काम नहीं हुआ था। आज बहुत सारा काम होता दिख रहा है। मैं इस परियोजना में प्रगति से बेहद प्रभावित हूं। जापान का संकल्प है कि भारत को हाईस्पीड रेलवे के क्षेत्र में महत्वपूर्ण स्थान मिले।'' श्री अग्निहोत्री ने कहा ,‘‘ रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने 2027 में गुजरात और दादरा नगर हवेली वाले करीब 352 किलोमीटर के भाग को पूरा करने का लक्ष्य दिया है। हम इसे पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं। हमारे पास गुजरात में 99 प्रतिशत भूमि मिल गई है। किसी संसाधन की कोई कमी नहीं है। महाराष्ट्र में 69 प्रतिशत जमीन मिल चुकी है। जैसे ही पर्याप्त मात्रा में जमीन अधिग्रहीत हो जाएगी। हम तुरंत टेंडर जारी कर देंगे। उन्होंने कहा कि परियोजना का पूरा काम बिजली से किया जा रहा है और डीजल जेनेरेटर का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News