India UAE trade: भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच फ्री ट्रेड एग्रीमेंट, जानें क्या होगा इसका फायदा

punjabkesari.in Sunday, Feb 20, 2022 - 04:05 PM (IST)

नेशनल डेस्क: भारत और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के बीच व्यापक मुक्त व्यापार समझौते (FTA) से रत्न एवं आभूषण जैसे करीब 26 अरब डॉलर मूल्य के घरेलू उत्पादों को फायदा मिलने की संभावना है। इन पर अभी खाड़ी देश में पांच प्रतिशत आयात शुल्क लगाया जाता है। एक अधिकारी ने भारत-यूएई FTA से जुड़े लाभों को रेखांकित करते हुए कहा कि इस करार से श्रम-गहन क्षेत्रों मसलन कपड़ा, चमड़ा, जूते-चप्पल, खेल का सामान, प्लास्टिक, फर्नीचर, कृषि और लकड़ी के उत्पाद, इंजीनियरिंग, फार्मास्युटिकल्स और चिकित्सा उपकरणों तथा वाहन जैसे उद्योगों को काफी लाभ होगा।

 

https://www.punjabkesari.in/national/news/free-trade-agreement-between-india-and-uae-1551818

अधिकारी ने कहा कि सेवा क्षेत्र की बात की जाए, तो इस करार से कंप्यूटर से संबंधित सेवाएं, ऑडियो-विजुअल, शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यटन, यात्रा, नर्सिंग, इंजीनियरिंग और लेखा सेवाओं को भी प्रोत्साहन मिलेगा। भारत और UAE ने 18 फरवरी को वृहद आर्थिक भागीदारी समझौते (सीईपीए) पर हस्ताक्षर किए थे। इसका उद्देश्य पांच साल की अवधि में द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ाकर 100 अरब डॉलर तक पहुंचाना और लाखों रोजगार के अवसरों का सृजन करना है। अधिकारी ने कहा कि UAE पहले से ही भारत का दूसरा सबसे बड़ा निर्यात गंतव्य है। 2019-20 में UAE को भारत का निर्यात लगभग 29 अरब डॉलर रहा था।

 

यूएई के साथ सीईपीए से लगभग 26 अरब डॉलर मूल्य के भारतीय उत्पादों को लाभ होने की संभावना है। इन उत्पादों पर यूएई में पांच प्रतिशत का आयात शुल्क लगता है। अनुमानों के अनुसार, 2023 में सोने और स्वर्ण-जड़ित आभूषणों का निर्यात बढ़कर 10 डॉलर हो जाएगा और भारत द्वारा सोने जैसे उत्पादों में UAE को दी जाने वाली शुल्क रियायतों से उत्पादन सामग्री के आयात लागत कम हो जाएगी। अगले पांच सालों में कपड़ा निर्यात में दो डॉलर की अतिरिक्त वृद्धि का अनुमान है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News