भारी बारिश के कारण गुजरात के सौराष्ट्र में बाढ़ जैसे हालात, 200 से ज्यादा गांवों में बिजली ठप्प

punjabkesari.in Monday, Sep 13, 2021 - 04:56 PM (IST)

नेशनल डेस्क: गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के कुछ जिलों में पिछले 36 घंटे से अधिक समय से जारी भारी बारिश के कारण वहां बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं और राहत तथा बचाव कार्य के लिए बचाव एजेंसियों के साथ ही वायुसेना की भी मदद ली जा रही हैं। मौसम विभाग ने अगले चार दिनों में भी राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। बारिश के कारण 15 राज्य हाईवे समेत 130 से अधिक रास्ते बंद हैं। 200 से अधिक गांवों में बिजली की आपूर्ति बाधित है। कई गांवों में लोग जल भराव के कारण छतों पर शरण लिए हुए हैं। वायुसेना के हेलिकॉप्टर ने कई गांव से फंसे हुए लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

 

आज सुबह 6 बजे तक के पिछले 24 घंटे में राज्य के सभी 33 जिलों के 212 तालुक़ा में बरसात हुई जिसमें से सर्वाधिक 176 मिलीमीटर जामनगर ज़लिे के कालावाड़ में थी। स्थिति तब बिगड़ने लगी जब राजकोट जिले में भी रविवार के कुछ स्थानों पर भारी बारिश के बाद आज भी सुबह से जामनगर, राजकोट और जूनागढ़ के कई इलाक़ों में अति भारी बारिश हुई। एशियाई शेरों के एकमात्र प्राकृतिक निवास जूनागढ़ के गिर के जंगलों में भी भारी बारिश की सूचना है। राजकोट शहर और जामनगर में कई लोगों को जलभराव वाले इलाक़ों से बाहर निकाला गया है। कई स्थानों पर तेज जल प्रवाह के कारण पार्क की गई गाड़ियों के बह जाने की भी घटनाएं भी हुई हैं।

 

बारिश जनित घटनाओं में कम से कम एक व्यक्ति के बह जाने की भी सूचना है। यह घटना राजकोट के उपलेटा तालुक़ा के अरनी गांव की बतायी जा रही है जहां कोजवे पर बने पुल से एक मोटरसाइकल बह गई। इस पर सवार दो लोगों को तो बचा लिया गया पर एक लापता बताया गया है। राहत और बचाव कार्य में NDRF, SDRF की टीमों के साथ वायुसेना के चार हेलिकॉप्टर भी लगाए गए हैं। आज ही शपथ लेने वाले राज्य के नए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने स्थिति की समीक्षा के लिए एक आपात बैठक भी बुलाई है। बता दें कि इस बार मानसून के समय से राज्य में आगमन के बाद यह कमज़ोर पड़ गया जिससे कई स्थानों पर सूखे जैसी स्थिति बन गई है। अब अंतिम चरण में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालत बन रहे हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News