रमजान में छिना सर छिपाने का सहारा, आग में स्वाह हो गये घर

2021-05-03T18:19:49.933

साम्बा : अपनी पार्टी के नेताओं ने आज सरकार से जिले के एक गाँव करालिया (रामगढ़) में गुज्जर समुदाय के अग्निकांड पीड़ित परिवारों को मुआवजा देने का आग्रह किया। इन लोगों के कल घरों में गत दिवस भयंकर आग लग गई थी। अपना आश्रय खोने वाले इन पीड़ित परिवार के सदस्यों के साथ अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए दिया जेकेएपी के प्रांतीय अध्यक्ष मंजीत सिंह और वरिष्ठ गुज्जर नेता सलीम आलम ने गाँव का दौरा किया और पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात की। पीड़ित परिवारों से मिलने के दौरान, मंजीत सिंह और सलीम आलम ने समुदाय के पीड़ित परिवारों को राहत सामग्री, राशन और बर्तन वितरित किए।


पूर्व मंत्री मंजीत ने कहा कि प्रशासन को चल रहे रमजान के मद्देनजर पीड़ितों को आवश्यक राहत प्रदान करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रशासन को अधिकारियों की एक टीम का गठन करना चाहिए और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सभी पीड़ित परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराना चाहिए। उन्होंने कहा कि रमजान के दौरान गुज्जर समुदाय को उपवास रखना पड़ता है और उन्हें प्राकृतिक आपदा के तहत प्रशासन द्वारा जल्द से जल्द अच्छी गुणवत्ता वाले टेंट उपलब्ध कराए जाने चाहिए। उन्होंने कहा पीड़ितों के पास भोजन नहीं बचा है, उनके बच्चे खुले आसमान के नीचे हैं व उनके पास झोपड़ी तक के लिए कोई चारा नहीं है क्योंकि विनाशकारी आग में सब कुछ जल गया है। उन्होंने कहा कि खानाबदोशों को स्वच्छ पेयजल की सुविधा प्रदान की जानी चाहिए और पीड़ितों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए एक मेडिकल टीम भी भेजी जानी चाहिए।
 


Content Writer

Monika Jamwal

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static