पहली बार हुआ ऐसा....लोकसभा चुनाव में वोटरों को बांटे रुपए, सांसद को 6 महीने की जेल

2021-07-25T15:08:36.417

नेशनल डेस्क: लोकसभा चुनाव 2019 में वोटरों को रिश्वत देने के मामले में पहली बार एक्शन लिया गया है। महिला सांसद को इस आरोप में छह महीने की सजा सुनाई गई है। तेलंगाना राष्ट्रीय समीति (TRS) की सासंद मलोत कविता को नामपल्ली में एक विशेष सत्र अदालत ने लोकसभा चुनाव 2019 में वोटरों को पैसे देने के आरोप में दोषी ठहराया है। कविता तेलंगाना के महबूबाबाद से सांसद हैं, उनकी एक सहयोगी को भी इस केस में कोर्ट ने दोषी माना है और उन्हें भी सज़ा सुनाई गई है।

 

मलोत कविता को 6 महीने जेल की सजा सुनाई गई है, साथ ही 10 हजार रुपए जुर्माना लगाया है। हालांकि आरोपियों को हाईकोर्ट में अपील दायर करने के लिए जमानत मिल गई है। इस मामले में कविता जल्द ही तेलंगाना हाईकोर्ट में अपील करेंगी।

 

ऐसे सामने आया मामला
2019 के दौरान राजस्व अधिकारियों ने सांसद के सहयोगी शौकत अली को रुपए बांटते हुए पकड़ लिया था। बर्गमपहाड़ थाना क्षेत्र में सांसद के सहयोगी लोगों से वोट की अपील के साथ 500 रुपए भी दे रहे थे। शौकत को पुलिस ने मौके से रंगे हाथ पकड़ा था। इस मामले में कविता को दूसरी आरोपी बनाया गया था। पूछताछ के बाद शौकत ने कबूला था कि उसने कविता के कहने पर ही लोगों में रुपए बांटे थे। इसके बाद से कविता पर मामला चल रहा था।

 

हलांकि यह पहला मामला नहीं है कि किसी सांसद को दोषी करार किया गया है इसे पहले भाजपा विधायक राजा सिंह और TRS विधायक दानम नागेंद्र को भी जेल की सजा सुनाई गई थी। राजा सिंह पर बोलारम पुलिस स्टेशन में एक पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट करने जबकि दानम नागेंद्र को बंजारा हिल्स पुलिस स्टेशन में एक सरकारी अधिकारी के साथ मारपीट करने के लिए अपने सहयोगी को धोखा देने के लिए दोषी ठहराया गया था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Recommended News