पुलिस ने किसानों को नहीं दी दिल्ली आने की इजाजत, कहा- घुसे तो होगी सख्त कार्रवाई

2020-11-25T16:37:03.81

नेशनल डेस्क: दिल्ली पुलिस ने किसानों को बड़ा झटका देते हुए राजधानी में आने की अनुमति नहीं दी है। दिल्ली पुलिस ने बुधवार को कहा कि उसने केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में प्रदर्शन के लिए विभिन्न किसान संगठनों से मिले सभी अनुरोधों को खारिज कर दिया है। इससे पहले पुलिस ने मंगलवार को कहा था कि कोरोना महामारी के बीच किसी प्रकार का जमावड़ा करने के लिए शहर आने पर प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। ‘दिल्ली चलो' मार्च के तहत शहर को जोड़ने वाले पांच राजमार्गों के जरिए किसानों के 26 नवंबर को दिल्ली आने का कार्यकम है।

PunjabKesari

दिल्ली पुलिस ने ट्विटर पर कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में इस तरह के किसी भी जमावड़े के लिए अनुरोधों को खारिज कर दिया गया है। पुलिस उपायुक्त (नई दिल्ली) ने ट्वीट किया कि 26 और 27 नवंबर को दिल्ली आने वाले किसान संगठनों के लिए सूचना- दिल्ली में 26 और 27 नवंबर को प्रदर्शन के लिए विभिन्न किसान संगठनों से मिले अनुरोधों को खारिज कर दिया गया है और इस बारे में आयोजकों को पहले ही अवगत करा दिया गया है। उन्होंने ट्वीट किया कि कृपया दिल्ली पुलिस के साथ सहयोग करें और कोरोना वायरस महामारी के बीच दिल्ली में जमावड़ा न करें। ऐसा नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

PunjabKesari

कृषि कानूनों को वापस लिए जाने को लेकर दबाव बनाने के लिए अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति (AIKSCC), राष्ट्रीय किसान महासंघ और भारतीय किसान यूनियन के विभिन्न धड़ों ने हाथ मिलाया है और एक संयुक्त किसान मोर्चा का गठन किया है। प्रदर्शन को 500 से ज्यादा किसान संगठनों का समर्थन मिला है। मोर्चा के संचालन में समन्वय बनाने के लिए सात सदस्यीय कमेटी भी बनाई गई है। किसानों को आशंका है कि नए कानूनों से न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म हो जाएगी और वे बड़े कारोबारियों की दया पर निर्भर हो जाएंगे।

PunjabKesari


Seema Sharma

Recommended News