दिल्ली में सत्ता पर काबिज होने का सपना एक बार फिर चकनाचूर हो गया: मनोज तिवारी

2020-02-11T17:32:38.153

नई दिल्ली: दिल्ली भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने विधानसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार को स्वीकार करते हुए कहा है कि परिणाम उनकी उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहे। मनोज तिवारी ने कहा है कि परिणाम उनकी उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहे। विधानसभा चुनाव के मंगलवार को आए परिणामों से 22 वर्ष के बाद दिल्ली में सत्ता पर काबिज होने का सपना एक बार फिर चकनाचूर हो गया। आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में 70 में से 60 से अधिक सीटेें झटककर एक बार फिर 2015 का प्रचंड प्रदर्शन दोहराया है।  

PunjabKesari

 तिवारी ने दिल्ली विधानसभा की तस्वीर साफ हो जाने के बाद मीडिया से बातचीत में कहा,च्च् मैं जनादेश को स्वीकार करता हूं , हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए, पार्टी चुनाव परिणामों का मूल्यांकन करेगी। कई बार जब परिणाम हमारी उम्मीदों के अनुरुप नहीं आते हैं तो हम हताशा हो जाते हैं लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि भाजपा कार्यकर्ताओं को दुखी होने की जरूरत नहीं है। वर्ष 2015 के विस चुनाव की तुलना में हमारा जीत का प्रतिशत बढ़ा है।उन्होंने दिल्ली की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि चुनाव के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं ने कड़ी मेहनत की। कार्यकर्ताओं ने अच्छा काम किया। 

PunjabKesari

 

इससे पहले मनोज तिवारी ने ट्विटर पर हिंदी में लिखा, दिल्ली के सभी मतदाताओं का धन्यवाद। सभी कार्यकर्ताओं को उनके कठिन परिश्रम के लिए साधुवाद, दिल्ली की जनता का जनादेश सिर माथे पे.. अरविंद केजरीवाल जी को बहुत बहुत बधाई...। तिवारी ने दावा किया था कि उनकी पार्टी दिल्ली में 45 से अधिक सीटें जीत कर सरकार बनाएगी। समाचार लिखे जाने तक कम से कम 15 सीटों पर आम आदमी पार्टी ने जीत दर्ज कराई थी। पार्टी के प्रमुख चेहरे मनीष सिसोदिया, आतिशी और राघव चड्ढा अपने चुनावी क्षेत्र से जीत चुके हैं। दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदान आठ फरवरी को हुआ था । 

PunjabKesari

 


Edited By

Anil dev

Related News