केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल बोले, कालेधन वाले भ्रष्ट लोग कर रहे चुनावी बॉण्ड का विरोध

11/21/2019 9:40:33 PM

नई दिल्लीः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने चुनावी बॉण्ड का विरोध कर रहे विपक्षी दलों पर पलटवार करते हुए आज आरोप लगाया कि चुनावी राजनीति को ईमानदार पैसे से चलाने का विरोध वही लोग कर रहे है जिन्हें काले धन और भ्रष्टाचार की आदत लग चुकी है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भाजपा एकमात्र पार्टी है, जिसने कालेधन के खिलाफ ईमानदारी से कठोर कदम उठाये। आयकर अधिनियम में संशोधन करके काले धन का रास्ता रोका। राजनीतिक दलों को पहले 30 हजार रुपये तक का चंदा नकद लेने का अधिकार था जिसे भाजपा की सरकार ने दो हजार रुपये तक सीमित कर दिया और कानून से सुनिश्चित किया कि राजनीतिक दलों को चेक से अथवा चुनावी बॉण्ड से चंदा मिले। 

गोयल ने कहा कि वर्षों वर्षों तक कुछ पाटिर्यों में व्यक्ति अधिक अमीर हुए और उन्हें भ्रष्टाचार एवं कालेधन की आदत पड़ गयी है। भाजपा की सरकार के कदमों से उनकी आय के साधनों पर रोक लग गई है। इसलिए वे अनाप शनाप आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये वही लॉबी है जो राफेल में भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही है। हालांकि उच्चतम न्यायालय ने उनके झूठ को उजागर कर दिया है, पर अब वे फिर जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि चुनावी बॉण्ड के माध्यम से यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया गया है कि चुनावी राजनीति कालेधन से मुक्त हो। बॉण्ड भारतीय स्टेट बैंक से मिल सकता है और 15 दिन के भीतर ही उसे भुनाना होगा। बैंक भी केवाईसी यानी ग्राहक को जानिये विवरण के पूरा होने पर ही बॉण्ड जारी करेगी। इस प्रकार से यह सुनिश्चित किया गया कि राजनीति में गलत पैसा नहीं आये। 

गोयल ने कहा कि चुनावी बॉण्ड में सुरक्षा एवं गोपनीयता के पूरे इंतज़ाम किये गये हैं जिससे राजनीतिक दल या दानदाता को परेशान नहीं किया जा सके। सरकार ने रिजर्व बैंक और चुनाव आयोग से व्यापक चर्चा के बाद बॉण्ड की शुरुआत की थी। भाजपा चाहती है कि सभी राजनीतिक दल इसमें सहयोग करें। संसद के अतारांकित प्रश्न के उत्तर से उपजे विवाद पर उन्होंने कहा कि अतारांकित प्रश्न का उत्तर संशोधित किया जा चुका है। पहले उसमें एक ही स्थान से आंकड़े लिये गये थे, लेकिन अब सभी स्थानों से आंकड़े लेकर उत्तर को संशोधित किया जा चुका है।

 


Yaspal

Related News