खुशखबरी: वस्तुओं के छूने से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा कम

2020-03-18T16:31:51.75

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मामले बढ़ कर 153 हो गए हैं. ताजा 4 पॉजिटिव केस नॉएडा से सामने आए हैं। इसके अलावा बेंगलुरु से भी दो नए मामले आए हैं। देशभर में वायरस से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है और सेनेटाइजर हैंड वाश और आस-पास की चीजों को साफ रखने की हिदायत दी जा रही है।   

वहीँ इस बीच एक अच्छी खबर सामने आई है। कोरोना से डर कर लोग अपने घर और ऑफिस में चीजों को छूने से बच रहे हैं ऐसे में विशेषज्ञों की तरफ से राहत पहुंचाने वाली खबर मिली है।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ 
विशेषज्ञों का कहना है कि दूसरों की छुई हुई चीजों को छूने से संक्रमण होने की संभावना बेहद कम है इसलिए लोगों को घबराना नहीं चाहिए। लोग कोरोना की वजह से अपनी रोजमर्रा की गतिविधियों में बदलाव ला रहे हैं। घर और ऑफिस की वस्तुओं को छूने से पहले उन्हें दस्ताने पहन कर छू रहे हैं, जैसे पानी की बोतल, दूध का पैकेट, अखबार, ऑनलाइन पैकेट वगैरह। 

कितने दिन तक जिंदा रहता है वायरस 
अमेरिका के सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की माने तो कोरोना वायरस शरीर से बाहर 9 दिन तक जिंदा रह सकता है, जबकि मेटल पर करीब 12 घंटे और विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, स्किन पर ये वायरस महज 10 मिनट ही जिंदा रह पाता है। इसके अलावा मोबाइल फोन की स्क्रीन पर 48 घंटे और प्लास्टिक बैकपैनल पर 9 दिन और अगर बैक पैनल मैटल का है तो उस पर वायरस 12 घंटे तक जिंदा रह सकता है। वहीं, किसी कपड़े पर ये वायरस 9 घंटे तक रहता है। 

इसके अलावा कोरोना वायरस 24 घंटे तक गत्ते पर, 3 दिन तक प्लास्टिक पर, 3 दिन तक स्टील पर जिंदा रह सकता है लेकिन इसके साथ ही बता दें कि किसी वस्तु से वायरस फैलने की संभावना बेहद कम है। बता दें, शुरुआती जांच में यह बात सामने आई थी कि इंसानी शरीर के बाहर यह कोरोना वायरस ज्यादा से ज्यादा तीन दिन तक जिंदा रह सकता है। 


संक्रमण फैलने की ज्यादा संभावना कब...
कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने की सबसे ज्यादा संभावना तब है जब कोई कोरोना से संक्रमित व्यक्ति छींके या खांसे और कोई अन्य व्यक्ति उन नम बूंदों के संपर्क में आ जाए। ऐसा लगभग 5 फुट की दूरी तक हो सकता है। ये भी संभव है कि व्यक्ति किसी ऐसी वस्तु के संपर्क में आएं जहां किसी संक्रमित व्यक्ति की छींक या खांसी से नम बूंदें गिरी हों और वो उसको छू ले और उन्हीं हाथों से व्यक्ति अपनी नाक, मुंह या आंखों को छूते हैं। ऐसे मामलों में वायरस से संक्रमित होने की संभावना पहले 15 मिनट से लेकर तकरीबन दो घंटे तक रहती है।

कब हार जाता है कोरोना वायरस 
कोरोना वायरस के बारे में एक खास बात ये भी है कि यह वायरस इंसानी शरीर के बाहर आने पर बहुत तेजी से मरने लगता है, क्योंकि यह मांस पर रखने वाला वायरस है और इसे जिंदा रहने के लिए एक वाहक चाहिए। इतना ही नहीं, एक मजबूत शरीर यानी मजबूत इम्यून सिस्टम वाले शरीर में यह वायरस नहीं रह सकता क्योंकि इस वायरस को फैलने के लिए लाखों पार्टिकल्स की जरूरत होती है। यानी सीधी बात ये हैं कि सिर्फ किसी संक्रमित जगह को छू लेने से कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैलेगा, इसका यह वायरस संक्रमित व्यक्ति से सीधा संपर्क होने पर ही होगा।


 


Chandan

Related News