दिल्ली दंगों में आया सलमान खुर्शीद का नाम, कांग्रेस बोली- भाजपा सरकार कर रही बदले की कार्रवाई

2020-09-24T21:58:50.73

नई दिल्लीः कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस द्वारा पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद और कई अन्य विपक्षी नेताओं पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) विरोधी प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगाए जाने को लेकर बृहस्पतिवार को दावा किया कि यह भाजपा सरकार की द्वेषपूर्ण और प्रतिशोध से प्रेरित कार्रवाई है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने ट्वीट किया, ‘‘यह शर्मनाक है कि भाजपा सरकार सलमान खुर्शीद, सीताराम येचुरी जैसे वरिष्ठ नेताओं को परेशान कर रही है। देश में सामाजिक सद्भाव को बढ़ावा देने में इन नेताओं का बेहतरीन रिकॉर्ड है। दिल्ली पुलिस की ओर से इन पर आरोप लगाना न सिर्फ गलत है, बल्कि हास्यास्पद भी है।''


कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘‘पूर्व क़ानून मंत्री सलमान खुर्शीद, पूर्व सांसद उदित राज व अन्य गणमान्य व्यक्तियों को दिल्ली पुलिस-मोदी सरकार द्वारा आरोपी बनाना सरासर द्वेषपूर्ण और अंधे प्रतिशोध से प्रेरित है।'' उन्होंने कहा, ‘‘बहुमत का घमंड बड़े बड़ों को बौना बना देता है। ख़ैर समय सभी का उपसंहार लिखता है!''


दिल्ली में फरवरी में हुए दंगों के सिलसिले में पुलिस ने जो आरोप-पत्र दायर किया है उसमें कहा गया है कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने वाले नेताओं में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, माकपा नेता बृंदा करात और उदित राज शामिल थे।

चार्जशीट में कहा गया है कि सुरक्षा प्राप्त गवाह ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 161 के तहत दर्ज कराए गए अपने बयान में कहा है कि कई जाने माने लोग मसलन नेता उदित राज, खुर्शीद, बृंदा करात खुरेंजी स्थित प्रदर्शन स्थल पर आए थे और उन्होंने ‘‘भड़काऊ भाषण'' दिए।

 

 


Yaspal

Related News