बिहार में बर्बरता और क्रूरता की हदें पार, क्या यहां पूजा और मूर्ति विसर्जन करना अपराध है?: कांग्रेस

2020-10-28T16:35:35.96

नेशनल डेस्क: कांग्रेस ने बिहार के मुंगेर जिले में देवी दुर्गा के मूर्ति विसर्जन के दौरान कथित तौर पर हुई पुलिस गोलीबारी की घटना को लेकर राज्य की जद(यू)-भाजपा सरकार पर हमला बोला और सवाल किया कि क्या नीतीश कुमार की सरकार में अब पूजा करना और मूर्ति विसर्जन अपराध हो गया है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मुन सिंघवी ने आरोप लगाया कि ‘सुशासन बाबू' की सरकार में बिहार में अपराध और खासकर जघन्य अपराध के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। 



बिहार पुलिस पर लगाया आरोप 
सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा कि मुंगेर में मां दुर्गा के भक्तों पर आक्रमण किया गया। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और कई लोग घायल हुए। यह सब इस पावन महीने में किया गया। बिहार और भारत में मां दुर्गा का क्या स्थान है, यह बताने की जरूरत नहीं है। सिंघवी ने आरोप लगाया कि बिहार पुलिस की ओर से बर्बरता और क्रूरता की हर सीमा को पार किया गया है। उन्होंने सवाल किया कि क्या यह जलियांवाला बाग में गोलीबारी का आदेश देने वाले जनरल डायर वाला व्यवहार नहीं है?


क्या विसर्जन करना पाप है?
कांग्रेस नेता ने यह भी पूछा कि क्या सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए विसर्जन करना पाप है? क्या अब बिहार में पूजा करना अपराध हो गया है? सिंघवी ने राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरों के आंकड़ों का हवाला देते हुए दावा किया कि नीतीश कुमार की सरकार में 2005 से 2019 के दौरान जघन्य अपराधों में बढ़ोतरी हुई है। प्रतिदिन औसतन 750 जघन्य अपराध होते हैं। बड़े पैमाने पर महिला विरोधी अपराध होते हैं। हत्या के मामले में बिहार का स्थान पूरे देश में दूसरे स्थान पर है। दंगों में 40 फीसदी की वृद्धि हुई है। 

क्या है मामला 
दरसअल बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के एक दिन पहले मुंगेर जिले में देवी दुर्गा की मूर्ति के विसर्जन के दौरान गोलीबारी और पथराव होने से एक व्यक्ति की मौत हो गई और सुरक्षाकर्मियों सहित दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। यह घटना मुंगेर शहर के कोतवाली थाना अंतर्गत दीन दयाल उपाध्याय चौक पर सोमवार देर रात हुई। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि पुलिस गोलीबारी में 20 साल के एक युवक की मौत हो गयी। हालांकि प्रशासन ने कहा कि वह भीड़ के बीच से किसी के द्वारा चलाई गई गोली से मारा गया था। 


Content Writer

vasudha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News