गलवान झड़प के बाद पहली बार भारत दौरे पर आ सकते हैं चीन के विदेश मंत्री, क्या लद्दाख पर बनेगी बात?

punjabkesari.in Wednesday, Mar 16, 2022 - 01:10 PM (IST)

नेशनल डेस्क: भारत और चीन के बीच 5 मई 2020 को पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील इलाके में हिंसक झड़प के बाद तनाव बना हुआ था लेकिन सैन्य स्तर की वार्ता के कारण धीरे-धीरे दोनों देशों के रिश्ते एक बार फिर से सामान्य होने लगे हैं। इसी बीच खबर है कि चीन के विदेश मंत्री वांग यी इस महीने के आखिर में भारत आ सकते हैं। लद्दाख में LAC पर हुई गलवान घाटी की झड़प के करीब दो साल बाद यह किसी वरिष्ठ चीनी नेता की पहली भारत यात्रा होगी। भारत से पहले वांग यी नेपाल की यात्रा करेंगे।

 

गलवान हिंसा से बढ़ा तनाव
भारत और चीन के बीच 5 मई 2020 को पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील इलाके में हिंसक झड़प के बाद तनाव बना था जो 1 जून 2020 को गलवान घाटी की झड़प के बाद काफी बढ़ गया था। गलवान घाटी की झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। चीन को भी इस झड़प से काफी नुकसान हुआ था। उसके कई सैनिक मारे गए थे लेकिन इसकी संख्या की सही जानकारी नहीं है।

 

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने इससे पहले कहा था कि सीमा के मुद्दे पर आपसी मतभेदों को सुलझाने के लिए बातचीत होना जरूरी है। उन्होंने यह भी कहा था कि कुछ शक्तियां भारत और चीन के बीच तनाव चाहती हैं। वांग यी का इशारा अमेरिका की तरफ था। विदेश मंत्री वांग यी ने कहा था कि भारत-चीन को एक पाटर्नर की तरह मिलकर मामले सुलझाने चाहिए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News