सीएम पटनायक ने भाजपा पर साधा निशाना, बोले- गरीबों के लिए ‘मगरमच्छ के आंसू'' बहा रही है भाजपा

punjabkesari.in Saturday, Dec 03, 2022 - 12:02 AM (IST)

नेशनल डेस्क : ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर झूठ बोलकर गरीबों के लिए ‘मगरमच्छ के आंसू' बहाने का आरोप लगाया और भगवा दल से लोगों को गुमराह करना बंद करने को कहा। पटनायक पदमपुर विधानसभा सीट के झाड़बंध और पाइकमाल ब्लॉक में दो चुनाव प्रचार सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इस सीट पर पांच दिसंबर को उपचुनाव होना है। 2019 के बाद किसी भी उपचुनाव में यह पटनायक की पहली सभा थी। उन्होंने पिछले चार मौकों पर प्रचार अभियान में हिस्सा नहीं लिया था, जिसमें धामनगर उपचुनाव भी शामिल था।

इस उपचुनाव में बीजू जनता दल (बीजद) चुनाव हार गया था। उन्होंने क्षेत्र के प्रमुख देवता “जय नृसिंहनाथ” का उच्चारण करते हुए और प्रख्यात ओडिया कवि गंगाधर मेहर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए अपने भाषण की शुरुआत की। दो बैठकों में भाजपा पर सीधा निशाना साधते हुए, सत्तारूढ़ बीजद अध्यक्ष पटनायक ने उसके नेताओं पर प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) जैसे गरीबों के मुद्दों पर राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “हालांकि राज्य सरकार को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत प्रति वर्ष पांच लाख घरों का निर्माण करने के लिए केंद्र सरकार से पुरस्कार मिला, लेकिन राजनीतिक उद्देश्यों के लिए भाजपा सांसदों ने दबाव डाला और योजना को रोक दिया।

इससे करीब दस लाख लोग घरों से वंचित रह गए।” पटनायक ने दोनों बैठकों में कांग्रेस के खिलाफ एक शब्द भी नहीं कहा। उन्होंने जोर देकर कहा कि वह बोलने के बजाय काम में विश्वास करते हैं। दो बैठकों के बीच पटनायक मेहर और कुल्टा समुदायों के प्रतिनिधियों से मिले, जिन्होंने कवि गंगाधर मेहर के नाम पर एक भवन और एक धर्मशाला बनाने के वास्ते भूमि तथा धन उपलब्ध कराने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने यादव और तेली समुदायों के सदस्यों से भी मुलाकात की तथा लोगों से उनके सामने आने वाली विभिन्न कठिनाइयों के बारे में लगभग 50 ज्ञापन प्राप्त किए।

उन्होंने कहा कि बीजद, पदमपुर में केंदु पत्ता तोड़ने वालों, किसानों, आदिवासियों, महिलाओं और दलितों के अधिकारों के लिए लड़ने के लिए संकल्पित है। बारगढ़ के पश्चिमी जिले में पड़ने वाले पदमपुर में भूमिहीन और गरीब लोगों के लिए केंदू पत्ता तोड़ना एक प्रमुख आर्थिक गतिविधि है। केंद्र की भाजपा नीत सरकार पर केंदू के पत्ते के व्यापार पर जीएसटी की उच्च दर लगाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, “क्या आप सोने पर जीएसटी के बारे में जानते हैं? यह केवल तीन प्रतिशत है, जबकि केंद्र दुर्भाग्य से केंदू के पत्तों के व्यापार पर 18 प्रतिशत जीएसटी लगाता है।

''पटनायक ने आरोप लगाया ‘‘भाजपा गरीबों, केंदू के पत्ते तोड़ने वालों, किसानों और अन्य लोगों के लिए मगरमच्छ के आंसू बहा रही है।” मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसल बीमा के भुगतान में देरी के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि पदमपुर के कई किसानों को अभी तक बीमा का दावा नहीं मिला है। उन्होंने कहा, “आक्रोशित किसानों ने उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी प्रदीप पुरोहित को नामांकन पत्र दाखिल करने से रोका तो राजग सरकार ने 48 घंटे के भीतर राशि जारी कर दी।”


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Parveen Kumar

Related News

Recommended News