आयोध्या राम मंदिर: जिस रास्ते से गुजरेंगे पीएम मोदी वहां नहीं दिखाई देंगे भाजपा के पोस्टर

2020-08-02T16:56:11.63

नेशनल डेस्क: मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम की नगरी अयोध्या में पांच अगस्त को मंदिर निर्माण के लिये होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के लिये तैयारियां चरम पर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी श्री रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण के लिये भूमि पूजन और शिलान्यास करेंगे। मोदी का हेलीकाप्टर साकेत डिग्री कालेज मैदान पर उतरेगा जहां से वह श्रीरामजन्मभूमि के लिये रवाना होंगे। जिस सड़क से प्रधानमंत्री का काफिला गुजरेगा, उसकी मरम्मत का काम जोरशोर से जारी है। सड़क के दोनों ओर के मकान और बिजली के खंभो को पीले रंग से रंग दिया गया है। कुछ जर्जर मकानों पर भी पीला रंग पोता गया है।        

 

नगर निगम के अधिकारी खंभो पर लगे भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के पोस्टर और बैनर हटा रहे है। नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि जिला प्रशासन के निर्देश पर वह राजनीतिक दल से संबधित पोस्टर हटा रहे हैं। रास्तों को चमकाया जा रहा है। काफिले के गुजरने वाले रास्ते की हर टूटी बाउंड्री वाल की मरम्मत की जा रही है। अधिकारी ने बताया कि संभवत: कल तक रास्ते को पूरी तरह चमका दिया जायेगा। 

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पांच अगस्त की दोपहर अयोध्या आयेंगे जहां वह मंदिर निर्माण के लिये भूमि पूजन और शिलान्यास करेंगे। वाराणसी से विशेष रूप से आमंत्रित पुरोहित भूमि पूजन करवायेंगे। इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, उमाभारती,विनय कटियार समेत मंदिर निर्माण से जुड़ी कई हस्तियां हिस्सा लेंगे। 

 

कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और डा मुरली मनोहर जोशी के पहुंचने की फिलहाल आधिकारिक पुष्टि नहीं हुयी है। भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है और हर आने जाने वाले वाहन की कडी चेकिंग की जा रही है। चार अगस्त से भूमि पूजन कार्यक्रम सम्पन्न होने तक अयोध्या की सीमा सील कर दी जायेगी।


vasudha

Related News