चुनाव से पहले इन राज्यों में भी भाजपा बदल चुकी है सीएम...जानें कब-कब क्या हुआ?

punjabkesari.in Saturday, May 14, 2022 - 06:23 PM (IST)

नेशनल डेस्कः उत्तराखंड, कर्नाटक, गुजरात, के बाद अब चुनाव से पहले भाजपा ने त्रिपुरा में मुख्यमंत्री बदलने का फैसला किया है। पिछले कुछ सालों में भाजपा ने चुनाव से ठीक पहले कई राज्यों के मुख्यमंत्री बदले हैं। पार्टी ने उत्तराखंड चुनाव से पहले तीन-तीन कुछ ही महीनों में तीन-तीन मुख्यमंत्रियों को बदल दिया था। इसके अलावा पिछले साल सितंबर में भाजपा ने गुजरात में अपना सीएम बदल दिया। कर्नाटक में भी बीएस येदियुरप्पा को हटा दिया गया है।

उत्तराखंड में 4 महीने में बदले तीन सीएम
विधानसभा चुनाव से पहले पिछले साल भारतीय जनता पार्टी ने महज 4 महीने में तीन मुख्यमंत्रियों को बदल दिया था। पिछले साल तत्कालीन सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल के चार साल पूरे होने के कुछ दिन पहले ही उन्हें हटा दिया गया। उनकी जगह तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया गया। तीरथ सिंह रावत सांसद हैं। तीरथ रावत को 6 महीने के भीतर विधानसभा का सदस्य बनना था लेकिन पार्टी चुनाव से पहले उपचुनाव में जाना नहीं चाहती थी ऐसे में भाजपा ने तीरथ सिंह रावत को चार महीने में कुर्सी से हटा दिया। तीरथ रावत की जगह खटीमा से विधायक पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाया गया और विधानसभा चुनाव धामी की अगुवाई में लड़ा गया और पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए दूसरी बाद जीत हासिल की।

गुजरात में विजय रुपाणी की जगह भूपेंद्र पटेल बने सीएम
ऐसा ही कुछ गुजरात में देखा गया जब पिछले साल सितबंर में मुख्यमंत्री विजय रुपाणी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने को कहा गया। उनकी जगह भूपेंद्र भाई पटेल को नया मुख्यमंत्री बनाया गया। विजय रुपाणी को साल 2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री और वर्तमान में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल की जगह सीएम बनाया गया था। 2017 के विधानसभा चुनाव उनकी अगुवाई में लड़े गए लेकिन भाजपा वैसा प्रदर्शन नहीं दोहरा सकी। तभी से उनकी नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठने लगे थे। जनता के बीच विजय रुपाणी की कम लोकप्रियता भी उनके इस्तीफे की वजह बनीं। भाजपा ने चुनाव से 15 महीने पहले नया सीएम बनाकर डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश की। गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।

कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा
पिछले साल कर्नाटक में भी फेरबदल देखने को मिला, जब जुलाई में राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को पद से इस्तीफा देना पड़ा। येदियुरप्पा की जगह बीएस बोम्मई को मुख्यमंत्री बनाया गया। बोम्मई लिंगायत समुदाय से आते हैं। येदियुरप्पा के इस्तीफे के पीछे की वजह उनकी उम्र बताई गई। वह 78 साल के हो चुके हैं और पार्टी के अंदर 75 साल से ऊपर के नेताओं को सार्वजनिक पद से हटाने का नई नीति के चलते उन्हें इस्तीफा देना पड़ा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News