राम मंदिर भूमि पूजन: प्रधानमंत्री की टॉप सिक्योरिटी में तैनात होंगे 'चिंटू जी', चप्पे-चप्पे पर रखेंग

2020-08-04T19:17:56.967

नेशनल डेस्कः पांच अगस्त यानी बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में भगवान राम के मंदिर की आधारशिला रखेंगे। इसे देखते हुए एसपीजी ने अयोध्या मंदिर परिसर कोय अपने नियंत्रण में ले लिया है। बेहद चुनिंदा लोगों को ही पूछताछ और सुरक्षा जांच के बाद मंदिर परिसर में आने-जाने की अनुमति दी जा रही है। इसके साथ सुरक्षा का एक बेहद खास इंतजाम भी किया गया है। अयोध्या परिसर में आगंतुकों को बंदरों के हमलों से बचाने के लिए एक लंगूर ‘चिंटू’ की सेवाएं ली गई हैं। चिंटू राम मंदिर परिसर के आसपास बंदरों को फटकने भी नहीं देगा, जो खाने-पीने की चीजों के लालच में कभी-कभी यात्रियों की बहुमूल्य चीजें उड़ा देते हैं।

जानकारी के मुताबिक, चिंटू अपने मास्टर ट्रेनर के साथ अयोध्या में राम की पैड़ी और आसपास के क्षेत्रों में पूरे दिनभर ड्यूटी देता है। इस दौरान वह मंदिर के आसपास की पूरी एरिया को बंदरों के आतंक से सुरक्षित रखता है। बंदर भोजन की तलाश में अकसर मंदिर के आसपास आ जाते हैं, लेकिन जैसे ही उनकी नजर चिंटू पर पड़ती है, वे वहां से भाग खड़े होते हैं। सामान्य तौर पर ये बंदर किसी को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं, लेकिन कभी-कभी भोजन की तलाश में वे कई जरूरी चीजें भी लेकर भाग जाते हैं, जिससे लोगों को परेशानी होती है। लोगों की इसी परेशानी को देखते हुए चिंटू जी की सेवाएं ली गई हैं।

लाल मुंह के बंदर, काले मुंह के बंदरों से डरते हैं। वहीं लंगूर काफी चपल होते हैं, यही कारण है कि संसद भवन हो राष्ट्रपति आवास उन्हें बंदरों से सुरक्षित रखने के लिए इसी तरह से लंगूरों की सेवाएं ली जाती हैं। मंगल नाम के एक ऐसे ही लंगूर को नई दिल्ली में बाकायदा वेतन पर रखा गया था, जो वीवीआईपी एरिया में बंदरों को खदेड़ने का काम किया करता था।

 


Yaspal

Related News