14 बैंकों से 3592 करोड़ रुपए का फ्राड, CBI ने हीरा कारोबारी पर दर्ज किया केस

2020-01-22T11:43:01.257

नई दिल्ली : केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बैंकों के 3500 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी के मामले में हीरा कारोबारी देसाई बंधुओं से जुड़ी मुंबई, दिल्ली और कानपुर की परिसम्पत्तियों पर मंगलवार को छापे मारे। सीबीआई प्रवक्ता ने बताया कि जांच एजेंसी ने फ्रॉस्ट इंटरनेशनल के निदेशकों- उदय देसाई और सुजय देसाई तथा कंपनी के पूर्व निदेशकों से जुड़े 13 ठिकानों पर छापे मारे। इनमें मुंबई के तीन, दिल्ली के चार और कानपुर के छह ठिकाने शामिल हैं। 

सीबीआई ने बताया कि बैंक ऑफ इंडिया की शिकायत पर सीबीआई ने फ्रॉस्ट इंटरनेशनल, इसके मौजूदा एवं पूर्व निदेशकों, गारंटी देने वाली तीन अन्य कंपनियों तथा कुछ बैंक अधिकारियों एवं निजी व्यक्तियों के खिलाफ 14 बैंकों के साथ 3592 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। सीबीआई अधिकारियों ने यह कारर्वाई बैंक ऑफ इंडिया के कानपुर क्षेत्रीय कार्यालय की शिकायत पर की है। 

बैंक का आरोप है कि निदेशकों का कोई वास्तविक कारोबार नहीं है फिर भी उन्होंने कर्ज लेने के लिए व्यापारिक गतिविधियों की आड़ ली। इसे जनवरी 2018 के बाद किसी सरकारी बैंक के साथ की गई सबसे बड़ी धोखाधड़ी माना जा रहा है। जनवरी 2018 में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का पंजाब नेशनल बैंक के साथ 13,000 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया था। 


shukdev

Related News