अग्निपथ योजना से होगा जवान, मजबूत और फिट भारत का निर्माण

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 12:42 PM (IST)

नेशनल डेस्कः दुनिया में आने वाली सबसे महत्वाकांक्षी और आकर्षक भर्ती योजनाओं में से एक  भारत सरकार ने इस महीने भारतीय युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में सेवा करने के लिए अविश्वसनीय रूप से बड़े पैमाने पर अग्निपथ योजना शुरू की। यह देशभक्त और प्रेरित युवाओं को चार साल की निर्दिष्ट अवधि के लिए सशस्त्र बलों में सेवा करने के लिए एक अत्यंत सरल और आकर्षक मार्ग प्रदान करती है। हालाँकि इस योजना के लिए प्रारंभिक ऊपरी आयु सीमा 21 वर्ष थी, लेकिन इस भर्ती चक्र के लिए इसे 23 वर्ष तक बढ़ा दिया गया है क्योंकि सशस्त्र बलों में भर्ती पिछले कुछ वर्षों से नहीं हुई थी।

 

सेना के लिए भी फायदेमंद होगी अग्निपथ योजना
विशेषज्ञों का मानना है कि अग्निपथ योजना से जवान, मजबूत और फिट भारत का निर्माण होगा ।  इसे सशस्त्र बलों को एक युवा प्रोफ़ाइल प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है । यह न केवल युवाओं के लिए बल्कि सेना के लिए भी फायदेमंद होगी, जिसे अब जीवन, उत्साह और जोश का एक नया आयाम मिलेगा। जानकारों का मानना ​​है कि इस योजना के लागू होने से भारतीय सशस्त्र बलों की औसत आयु में लगभग छह साल की कमी आएगी, जिससे भारतीय बलों को अतिरिक्त लाभ मिलेगा। विशेषज्ञों के अनुसार सेना जितनी छोटी होगी, उतनी ही बेहतर और उच्च दक्षता के साथ उन्हें विभिन्न मोर्चों पर लामबंद किया जा सकता है। वास्तव में, युवाओं के लिए एक छोटी सैन्य सेवा कई अतिरिक्त लाभ प्रदान कर सकती है।


अग्निवीर नारियों को बराबर होगा लाभ
अग्निवीर नारियों को भी पहले साल में 30,000 रुपए का वेतन पैकेज मिलेगा। फिर उन्हें हर साल 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी मिलेगी। यानी दूसरे वर्ष में उनका वेतन 33,000, तीसरे वर्ष के लिए 36,500 और चौथे वर्ष के लिए 40,000 रुपए होगा। इस बीच, सेवा निधि कोष के लिए हर महीने उनके वेतन का लगभग 30% काटा जाएगा। और उनकी सेवा के अंत में, यानी 4 साल बाद सरकार कुल ₹11.77 लाख तक की राशि जोड़ देगी और प्रत्येक अग्निवीर नारी को भुगतान किया जाएगा। यह योजना आर्थिक रूप से कई अलग-अलग तरीकों से अग्निपथ और समाज में महिलाओं के प्रतिनिधित्व में एक बड़ा बदलाव लाएगी।

 

योजना से महिलाओं की बढ़ेगी सुरक्षा 
कर्नल अशोक किनी (सेवानिवृत्त) का मानना है कि सामाजिक परिप्रेक्ष्य में भारत में महिलाएं घरेलू हिंसा, दहेज हत्या, उच्च शिक्षा की कमी, परिवार में माध्यमिक स्थान, परिवार में आवाज प्रतिनिधित्व की कमी आदि जैसी विभिन्न समस्याओं से जूझ रही हैं। यदि महिलाएं इस योजना से जुड़ती हैं, तो उन्हें भी सामाजिक स्थिति के अलावा,वित्तीय सुरक्षा भी मिलेगी। वे उच्च शिक्षा के लिए सेवानिवृत्ति के दौरान प्राप्त धन का उपयोग कर सकती हैं। यही नहीं वे एक व्यवसाय स्थापित कर सकती हैं। परिवार के लिए एक घर बना सकती हैं।

 

भारत सरकार की अग्निपथ योजना से पहले कई अन्य देशों में इस तरह की संक्षिप्त सेवाओं का परीक्षण किया जा चुका है। इसे युवाओं और सेना के लिए सबसे बेहतर व्यवस्था माना जाता है। आपको बता दें कि पहले साल में अग्निवीरों में भर्ती होने वाले युवाओं की संख्या आर्म्ड फोर्सेज की संख्या की 3 प्रतिशत होगी। वहीं इसके चार साल बाद सेना में दोबारा भर्ती से पहले अग्निवीरों द्वारा किए गए उनके प्रदर्शन का आंकलन होगा। इस प्रक्रिया के तहत सेना को सुपरवाइजरी रैंक के लिए जांचे और परखे लोग मिलेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News