corona virus: प्लाज्मा थेरेपी के बाद अब रेमडेसिविर दवा के इस्तेमाल पर भी लग सकती है रोक

punjabkesari.in Wednesday, May 19, 2021 - 01:08 PM (IST)

नेशनल डेस्क: देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच इस वायरस में इलाज के लिए इस्तेमाल हो रही दवा रेमडेसिविर की कालाबाजारी भी बढ़ गई है। वहीं दिल्‍ली स्थित सर गंगाराम अस्पताल के चेयरपर्सन डॉ. डीएस राणा की तरफ से बड़ा बयान आया है। डॉ. डीएस राणा ने कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्‍शन को भी जल्द ही Covid 19 के इलाज से हटाने पर विचार किया जा रहा है। डॉ. राणा ने कहा कि इस दवा का कोरोना मरीजों पर कारगर असर नहीं हो रहा है जिसके कारण अब इसे इलाज की दवा वाली लिस्ट से हाटाने पर विचार हो रहा है।

PunjabKesari

डॉ. डीएस राणा की तरफ से यह बयान ऐसे समय में आया है जब दो दिन पहले ही इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की सलाह के बाद covid-19 के लिए इलाज के प्रोटोकॉल से प्लाज्मा थेरेपी के इस्‍तेमाल को हटा दिया गया है। डॉ राणा ने कहा कि प्लाज्मा थेरेपी में किसी ऐसे व्यक्ति को प्री-फॉरवर्ड एंटीबॉडी जी जाती है जो पहले संक्रमित हो चुका होता है, ताकि एंटीबॉडी वायरस से लड़ सके।

PunjabKesari

डॉ राणा ने कहा कि पिछले एक साल से देखा जा रहा है कि प्लाज्मा थेरेपी का भी कोरोना मरीजों पर असर नहीं हो रहा है, इतना ही नहीं यह यह आसानी से उपलब्ध नहीं होता है। इसलिए इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए प्लाज्मा थेरेपी के इस्तेमाल को बंद किया गया। डॉ. राणा ने कहा कि अभी तक कोरोना मरीजों को इलाज में दी जाने वाली दवाओं में एक रेमडेसिविर इंजेक्‍शन भी रहा है लेकिन इसका भी संक्रमित मरीज पर प्रभावी असर देखने को नहीं मिल रहा, ऐसे में जो दवाएं कारगर सिद्ध नहीं हो रही हैं उन्हें बंद करना ही ठीक होगा।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News