कथनी के अनुसार चले तो पंजाब के नए मुख्यमंत्री देश में बनेंगे उदाहरण- रामपाल जाट

09/21/2021 10:50:11 PM

जयपुरः किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा है कि कथनी के अनुसार चले तो पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी देश में उदाहरण बन जायेंगे। डा जाट ने चन्नी के ‘‘किसानों के हितों के लिए अपनी गर्दन भी कटवा सकता हूं' बयान पर अपनी प्रतिक्रिया में आज यह बात कही। 

उन्होंने बयान जारी कर कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री किसानों के लिए बिना गर्दन कटाए ही उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य की प्राप्ति सुनिश्चित कर सकते है। पंजाब सरकार द्वारा केंद्र के तीन कानूनों के संशोधन विधेयक में गेहूं एवं धान की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने संबंधी प्रावधान किया गया है, यह प्रावधान तभी प्रभावी हो सकता है, जब इसे राष्ट्रपति द्वारा अनुमोदित किया जाए। 

वर्तमान परिस्थितियों में यह संभव प्रतीत नहीं होता है। इस दिशा में केंद्र सरकार द्वारा 2017 में तैयार किया गया आदर्श कृषि उपज मंडी एवं पशुपालन अधिनियम, 2017 के अनुसार राज्य में ‘‘पंजाब कृषि उपज मंडी अधिनियम'' में संशोधन सरलता से किया जा सकता है। जिससे केंद्र द्वारा घोषित सभी उपजों के न्यूनतम समर्थन मूल्य प्राप्त होना सुनिश्चित हो जाएगा। यह सर्वोत्तम काम है और उसके लिए राष्ट्रपति के अनुमोदन की आवश्यकता भी नहीं होगी। यह मुख्यमंत्री अधिकार क्षेत्र का विषय है। 

उन्होंने कहा कि चन्नी का दिया गया वक्तव्य सत्यता पर खरा उतरे जिससे उनकी कथनी-करनी में अंतर नहीं रहे, यह पंजाब के लिए तो उपादेय होगा ही, सपूर्ण देश के लिए भी उदहारण बनेगा। उल्लेखनीय है कि जाट के नेतृत्व में किसान पिछले करीब 80 दिन से नई दिल्ली में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों की संपूर्ण फसल की खरीद की गारंटी का कानून बनाने की मांग को लेकर सत्याग्रह कर रहे हैं। हालांकि उन्हें दिल्ली पुलिस जंतर-मंतर पर एकत्रित नहीं होने देती और रोज पुलिस थाना संसद मार्ग में निरुद्ध कर बाद में छोड़ दिया जाता है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Recommended News