जम्मू-कश्मीर में प्रवासी पक्षियों का आना शुरू, वन विभाग ने पक्षियों की सुरक्षा के प्रयास शुरू किए

11/21/2019 7:34:06 PM

श्रीनगर: प्रवासी पक्षियों के जम्मू-कश्मीर में पहुंचने के साथ ही वन्यजीव संरक्षण विभाग (डब्ल्यूपीडी) ने इनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। डब्ल्यूपीडी ने प्रवासी पक्षियों का शिकार करने, पकड़ने और इसकी बिक्री को रोकने के लिए वन सुरक्षा बल और पुलिस से सहायता मांगी है। 

PunjabKesari

नवंबर के पहले सप्ताह से ही लाखों पक्षी घाटी में पहुंचने लगते हैं क्योंकि उत्तरी गोलार्ध में साइबेरिया, चीन, जापान और अन्य देशों में उनके प्राकृतिक आवासों में अत्यधिक ठंड की स्थिति में कश्मीर उन्हें तुलनात्मक रूप से बेहतर वैकल्पिक निवास स्थान प्रदान करता है।

PunjabKesari

डब्ल्यूपीडी ने यहां एक बयान में कहा आम जनता को सूचित किया जाता है कि प्रवासी पक्षियों का शिकार करना, पकड़ना और बिक्री भारतीय वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 के तहत दंडनीय अपराध है। इन पक्षियों का शिकार करने, पकड़ने या बेचने पर व्यक्ति को एक वर्ष की जेल की सजा के साथ उस पर 10,000 रुपए तक का जुर्माना भी लगाया जाएगा।

PunjabKesari

 बयान में कहा गया है विभाग ने कश्मीर में इन प्रवासी पक्षियों के शिकार, अवैध रूप से पकड़ना और बिक्री को रोकने के लिए वन सुरक्षा बल और स्थानीय पुलिस से सहायता मांगी है।


Author

rajesh kumar

Related News