UN दूत मिशेल के शिनजियांग पहुंचने से पहले ही उइगरों को लेकर डेटा लीक, चीन सरकार की खुल गई पोल

punjabkesari.in Thursday, May 26, 2022 - 02:39 PM (IST)

बीजिंग: चीन उइगर समेत अन्य अल्पसंख्यक समुदायों का शोषण करने का आरोपों को लेकर पूरी दुनिया के निशाने पर है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार समूह की प्रमुख मिशेल बैचलेट के उइगर बाहुल क्षेत्र शिनजियांग के दौरे के साथ ही चीन सरकार का सीक्रेट सामने आ गया है। बैचलेट दौरे दौरान ही चीन के खिलाफ एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें अल्पसंख्यक उइगर समुदाय से जुड़ा पूरा डेटा है। साथ ही शीर्ष चीनी अधिकारियों के भाषण हैं जिसमें उइगरों को दबाने और दंडित करने की योजनाएं हैं।

 

यह मामला तब सामने आया है जब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बैचलेट वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बात करने वाली हैं। शिनजियांग पुलिस को ये फाइलें रिसर्चर एड्रियन जेंज से मिलीं। इन्होंने 14 नए आर्गेनाइजेशन के समूह के साथ डाक्यूमेंट साझा किए थे। इसमें अंतरराष्ट्रीय खोजी पत्रकारों International Consortium of Investigative Journalists ( ICIJ) से जुड़ा डेटा भी है।

 

चीन सरकार के खिलाफ लीक इस नई रिपोर्ट में साफ पता चलता है कि उइगर समुदाय कभी भी इनकी प्राथमिकता नहीं रही। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार समूह प्रमुख की छह दिवसीय चीन यात्रा से कई उम्मीदें लगाई गई हैं। इस क्रम में एमनेस्टी इंटरनेशनल के महासचिव एग्नेस कालमार्ड ने कहा, 'यह अच्छा मौका है और यूएन मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बैचलेट के नेतृत्व में शिनजियांग पहुंची टीम को चीन द्वारा क्षेत्र में सच्चाई छिपाने संबंधी कदमों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News