तालिबान का नया फरमानः पुरुषों के हेयरकट और दाढ़ी शेव करने पर बैन, सैलून में नहीं बजेगा म्‍यूजिक

09/27/2021 12:04:08 PM

इंटरनेशनल डेस्कः अफगानिस्‍तान में समावेशी सरकार का दावा करने वाला तालिबान धीरे-धीरे अपने पुराने रंग में लौटने लगा है। वो फिर से उन आदेशों को यहां पर थोपने लगा है जिसके लिए उसे पूरी दुनिया में जाना जाता है। तालिबान ने हेलमंद प्रांत में एक नया फरमान जारी कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट क अनुसार तालिबान ने अब हेलमंद में पुरुषों के बाल काटने व दाढ़ी ट्रिम करने पर बैन लगा दिया है।

 

तालिबान के लिखित आदेश के हवाले से फ्रंटियर पोस्‍ट  में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक  तालिबान ने दक्षिणी अफगानिस्‍तान के हेलमंद में स्‍टाइलिश हेयरस्‍टाइल और दाढ़ी शेव करने पर बैन लगा दिया है। फ्रंटियर पोस्‍ट ने बताया कि  इस्‍लामिक ओरियंटेशन मिनिस्‍ट्री की तरफ से एक मीटिंग में यह फैसला लिया गया है. इस मीटिंग में प्रांतीय राजधानी लश्‍कर गाह में स्थित सैलून के हेयरड्रेसर्स को शामिल किया गया था। इन्‍हें सलाह दी गई है कि वो बालों को स्‍टाइलिंग करने और दाढ़ी को शेव करने से बचें।  यह ऑर्डर इस समय सोशल नेटवर्किंग पर वायरल हो रहा है।  इस ऑर्डर के मुताबिक सैलून में म्‍यूजिक भी प्‍ले नहीं होना चाहिए।

 

 पहली बार साल 1996 में सत्‍ता संभालने के बाद तालिबान ने साल 2001 तक अफगानिस्‍तान पर शासन किया था।  इस दौरान उसने कई ऐसे आदेशों को यहां पर लागू किया जो दमनकारी थे। इन्‍हीं आदेशों को अब तालिबान फिर से लागू करने लगा है। तालिबान ने अफगानिस्‍तान में शरिया कानून लागू कर दिया है।  बड़े स्‍तर पर देश से मानवाधिकार हनन की खबरें आने लगी हैं। हाल ही में तालिबान ने उन चार शवों को सार्वजनिक तौर पर प्रदर्शन के लिए रखा था जिनकी मौत हेरात प्रांत में हुई थी। ये चारों अपहरण जैसे अपराध में शामिल थे।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Recommended News