भारत में महंगा हो सकता है पेट्रोल-डीजल! ओपेक देशों ने 20 लाख प्रति बैरल प्रतिदिन तेल कटौती का किया फैसला

punjabkesari.in Thursday, Oct 06, 2022 - 06:49 AM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक और सहयोगियों (ओपेक प्लस) ने कीमतों में तेजी लाने के लिए कच्चे तेल के उत्पादन में बड़ी कटौती करने का फैसला किया है। यह कदम संघर्ष कर रही वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए एक और झटका होगा। कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद ओपेक गठजोड़ के वियना मुख्यालय में ऊर्जा मंत्रियों की पहली आमने-सामने की बैठक में नवंबर से उत्पादन में प्रतिदिन 20 लाख बैरल की कटौती करने का फैसला किया गया। 

इससे पहले ओपेक प्लस ने पिछले महीने उत्पादन में सांकेतिक कटौती की थी। हालांकि, महामारी के दौरान उत्पादन में बड़ी कटौती की गई थी लेकिन पिछले कुछ माह से निर्यातक देश उत्पादन में बड़ी कटौती से बच रहे थे। ओपेक प्लस ने बयान में कहा कि यह फैसला वैश्विक आर्थिक और कच्चे तेल के बाजार परिदृश्य में अनिश्चितता को देखते हुए लिया गया है। हालांकि, उत्पादन में कटौती से तेल के दाम और उससे बनने वाले पेट्रोल की कीमत पर विशेष असर नहीं पड़ेगा क्योंकि ओपेक प्लस के सदस्य पहले ही समूह द्वारा तय किए गए ‘कोटा' को पूरा नहीं कर पा रहे हैं।

भारत पर क्या होगा असर?
भारत अपनी जरूरत का 70 फीसदी कच्चा तेल ओपेक देशों से ही मंगाता है। ऐसा तब है जब भारत के ओपेक से तेल आयात में कमी आई है। इस कटौती का एक दूसरा पहलू ये भी है कि तेल की मांग घटने के कारण ही ओपेक देश ये कदम उठाने पर मजबूर हुए हैं। वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल में तेजी देखने को मिली थी। ब्रेट क्रूड मंगलवार को 91.88 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया था। हालांकि, देश में इसका तेल की कीमतों पर कोई खासा असर नहीं हुआ। दिल्ली में आज पेट्रोल 96.72 रुपये और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था। इसके अलावा मुंबई में पेट्रोल 106.31 रुपये, कोलकाता में 106.03 रुपये और चेन्नई में 102.63 पर प्रति लीटर बिक रहा था। मुंबई में डीजल 94.27 रुपये, कोलकाता में 92.76 रुपये और चेन्नई में 94.24 रुपये प्रति लीटर मिल रहा था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News