Omicron Update: जापान व अमेरिका ने सख्त किए प्रतिबंध, WHO ने ओमीक्रोन को लेकर दी खुशखबरी

punjabkesari.in Thursday, Dec 02, 2021 - 12:09 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः दुनिया भर में  कोरोना के  नए वेरिएंट ओमीक्रोन के कारण मची दहशत के बीच विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) ने  जहां अच्‍छी खबर दी है वहीं  जापान व अमेरिका ने प्रतिबंधों को सख्त कर दिया है। WHO ने पहली बार आधिकारिक तौर पर स्‍वीकार किया है कि डेल्‍टा वेरिएंट की तरह से ओमीक्रोन वेरिएंट दुनिया में तबाही नहीं मचाएगा जैसाकि शुरू में आशंका जताई गई थी। WHO ने कहा कि ओमीक्रोन के ज्‍यादातर मामले 'हल्‍के' हैं और इसके लिए कोरोना वैक्‍सीन  पूरी तरह सुरक्षित व प्रभावी साबित होगी। WHO के अनुसार वर्तमान कोरोना वैक्‍सीन को अस्‍पताल में भर्ती कराए जाने और मौतों के खिलाफ उच्‍च स्‍तर की सुरक्षा देनी चाहिए। 

PunjabKesari

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के प्रवक्‍ता ने यह भी कहा कि आंकड़े बता रहे हैं कि ओमीक्रोन म्‍यूटेंट स्‍ट्रेन डेल्‍टा वेरिएंट की तुलना में ज्‍यादा लोगों को संक्रमित कर रहा है। यहां तक कि वैक्‍सीन की सारी डोज लेने वाले भी इससे बच नहीं पा रहे हैं। WHO के अध‍िकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि इस बात के कोई संकेत नहीं है कि वर्तमान वैक्‍सीन अस्‍पताल में भर्ती कराए जाने और मौतों की संख्‍या को कम रखने में कम प्रभावी होंगी। यह अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि WHO किस साक्ष्‍य की ओर इशारा कर रहा है। 

 

दक्षिण अफ्रीका में एक दिन में दोगुने हुए नए मामले 
दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले एक दिन में दोगुने हो जाने के बीच सरकार पर इस बात का दबाव बढ़ गया है कि उन लोगों के एकत्र होने पर कड़ा प्रतिबंध लगाया जाए, जिन्होंने टीकाकरण नहीं कराया है। राष्ट्रीय संक्रामक रोग संस्थान ने बुधवार शाम घोषणा की कि पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 8,561 नए मामले सामने आए, जबकि इससे एक दिन पहले 4,373 मामले पाए गए थे। विशेषज्ञों ने कहा कि शीर्ष महामारी रोग विशेषज्ञ डॉ. सलीम अब्दुल करीम ने दक्षिण अफ्रीका में सोमवार तक संक्रमण के दैनिक मामले 10,000 पहुंचने की संभावना जताई थी, लेकिन अब संक्रमण के मामलों की संख्या बृहस्पतिवार तक 10,000 हो जाने की आशंका है। संक्रमण के मौजूदा मामलों में से 72 प्रतिशत मामले गाउतेंग प्रांत में पाए गए।PunjabKesari

अमेरिका में ‘ओमीक्रोन’ वेरिएंट के पहले मामले की पुष्टि
अमेरिका में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ के पहले मामले की पुष्टि हुई है। कैलिफोर्निया का एक शख्स वायरस के इस नए स्वरूप से संक्रमित पाया गया है। वाइट हाउस ने बुधवार को यह जानकारी दी। वहीं वैज्ञानिक नए स्वरूप से पैदा हुए खतरे के बारे में लगातार अध्ययन कर रहे हैं। राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने पिछले महीने के अंत में दक्षिण अफ्रीकी देशों से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था। यहीं पर कोविड के नए स्वरूप का पता चला था। यह 24 से ज्यादा देशों में फैल चुका है। अमेरिका के शीर्ष संक्रमण रोग विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फाउची ने वाइट हाउस में कहा कि यह अमेरिका में कोविड-19 के ‘ओमीक्रोन’ स्वरूप से संक्रमित होने का पहला मामला है।

 

अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए सख्त हुआ अमेरिका
अमेरिका अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए जांच की जरूरतों को कठोर करने का कदम उठा रहा है। दक्षिण अफ्रीकी अनुसंधान में विश्व स्वास्थ्य संगठन को पिछले हफ्ते ओमीक्रोन के बारे में सतर्क किया गया था लेकिन यह ज्ञात नहीं है कि कहां या कब यह नया स्वरूप पहली बार प्रकट हुआ। हालांकि, यह स्पष्ट है कि यह दक्षिण अफ्रीका से पहले से यूरोप में मौजूद था। लेकिन नाइजीरिया ने बुधवार को बताया कि उसके जन स्वास्थ्य संस्थान ने कहा है कि उसने अक्टूबर में एकत्र किये गये एक नमूने में यह स्वरूप पाया था । साथ ही यह इस म्यूटेशन का पहला ज्ञात मामला है।

PunjabKesari


जापान ने यात्रा प्रतिबंध किए सख्त,  उड़ानों के लिए टिकट बुकिंग की बंद
इस बीच कोविड-19 के ओमीक्रोन वेरिएंट ने बुधवार को दुनिया की परेशानी और बढ़ा दी क्योंकि जापान ने यात्रा प्रतिबंधों को कड़ा कर दिया। इस बीच, यूरोप के कई देश अब भी कोविड के पुराने स्वरूप डेल्टा से जूझ रहे हैं। वहां संक्रमण के मामले तीव्र गति से बढ़ रहे हैं और अस्पतालों में मरीजों के भर्ती होने की दर भी बढ़ी है। वहीं, जापान ने अपना आक्रामक रुख बरकरार रखा है। उसने सभी अंतरराष्ट्रीय एयरलाइन को देश में आने वाली उड़ानों के लिए टिकटों की बुकिंग दिसंबर अंत तक के लिए बंद करने को कहा है। जापान ने पेरू से कतर होते हुए आये एक व्यक्ति में इस स्वरूप की पुष्टि की है जो देश में ओमीक्रोन का दूसरा मामला है। हालांकि, विश्व के कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका से यात्रियों के आगमन को प्रतिबंधित कर दिया है।

 

सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात में पहला मामला
सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कोरोना वायरस संक्रमण के नए स्वरूप का पहला मामला सामने आया है और यह फारस की खाड़ी क्षेत्र में ‘ओमीक्रोन' के संक्रमण का पहला ज्ञात मामला है। सऊदी अरब की सरकारी ‘सऊदी प्रेस एजेंसी' ने बताया कि देश में किसी ‘‘उत्तरी अफ्रीकी देश'' से आया व्यक्ति ओमीक्रोन से संक्रमित पाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि संक्रमित व्यक्ति और उसके संपर्क में आए सभी लोगों को पृथक-वास में रखा गया है। इसके अलावा संयुक्त अरब अमीरात की सरकारी ‘डब्ल्यूएएम' संवाद समिति ने किसी देश का नाम न लेते हुए बताया कि यूएई में किसी अरब देश के जरिए किसी अफ्रीकी देश से आई एक अफ्रीकी महिला संक्रमित पाई गई है। ओमीक्रोन से संक्रमण के मामले 20 से अधिक देशों में पाए गए हैं। अभी इस बात का अध्ययन किया जा रहा है कि कोरोना वायरस का यह स्वरूप कितना खतरनाक है।

PunjabKesari

आस्ट्रिया ने लॉकडाउन 11 दिसंबर तक बढ़ाया
इस बीच सउदी अरब ने बुधवार को कहा कि उसने ओमीक्रोन के प्रथम मामले की पुष्टि की है। यूरोपीय आयोग अध्यक्ष उर्सूला वोन डेर लेयेन ने कहा, ‘मैंने अपने वैज्ञानिकों की सुनी, वे सब कह रहे हैं हम अभी पर्याप्त रूप से नहीं जानते हैं। इसलिए वे दो तीन हफ्तों का वक्त लेंगे। सामान्य समय में यह संक्षिप्त अवधि होती है लेकिन महामारी के समय में यह अनंतकाल होता है। ’ इस बीच, जर्मनी के गहन चिकित्सा संघ ने बुधवार को चेतावनी दी क्रिसमस से पहले गहन चिकित्सा की जरूरत वाले कोविड मरीजों की संख्या एक नयी ऊंचाई को छू सकती है और इसके पिछले साल से भी सर्वकालिक ऊंचाई पर जाने की उम्मीद है। उधर, आस्ट्रिया ने लॉकडाउन 11 दिसंबर तक बढ़ा दिया है। पुर्तगाल ने बुधवार को घरों के अंदर भी मास्क पहनने का प्रावधान किया।


बता दें कि ओमीक्रोन के खतरे के बाद भी दक्षिण अफ्रीका में अभी भी आबादी के लिहाज से ब्रिटेन और अमेरिका की तुलना में कम कोरोना मामले आए हैं। ऑक्‍सफर्ड यूनिवर्सिटी के शोध के मुताबिक दक्षिण अफ्रीका में 10 लाख की आबादी पर 46 मामले सामने आए हैं। वहीं ब्रिटेन में 10 लाख की आबादी पर 628 और अमेरिका में 246 मामले सामने आए हैं। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना केस बढ़े हैं लेकिन अभी भी कम हैं। दक्षिण अफ्रीका में ओमीक्रोन के 172 मामले आए हैं और नए वेरिएंट से पीड़‍ित मरीजों में बहुत हल्‍के लक्षण देखे गए हैं।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News