कोरोना का मजाक उड़ाने के लिए संक्रमितों को बुलाकर की पार्टी, हफ्ते में हो गई मौत

2021-04-19T18:13:21.49

इंटरनेशनल डेस्कः कोरोना वायरस के कहर ने पूरी दुनिया तबाही मचा रखी है । लोग वायरस के संक्रमण को लेकर खौफजदा हैं और भारत समेत कई देशों ने फिर से पाबंदियों को ऐलान कर दिया है।  लेकिन इस कुछ लोग वायरस को मजाक समझकर  कोरोना को सिर्फ 'झूठा डर' बता रहे हैं और अपनी नादियों से न सिर्फ अपनी जान गंवा रहे हैं बल्कि दूसरों की जान भी खतरे में डाल रहे हैं। ऐसे ही कई लोगों का मानना है कि कोरोना जैसा कोई वायरस है ही नहीं ।  ऐसा ही एक मामला नार्वे में सामने आया है जहां एक शख्स को कोरोना का मजाक उड़ाना महंगा पड़ गया। यह शख्स न सिर्फ अपनी जान गंवा बैठा बल्कि  मरने से पहले वह कई लोगों की जान खतरे में डाल गया।

 

जानकारी के अनुसार नार्वे के हंस क्रिस्चियन गार्डर अक्सर कोरोना का मजाक उड़ाते और वायरस को लेकर लगातार झूठी और भ्रामक खबरों के कारण चर्चा में थे कोरोना न होने का दावा करते हुए उसने कुछ दिन पहले ही अपने घर पर दो पार्टी आयोजित कीं और इन पार्टीज में कई ऐसे लोगों को बुलाया गया जो कोरोना पॉजिटिव थे।  गार्डर ने तमाम सोशल मीडिया चैनलों के जरिए कोरोना वायरस महामारी से संबंधित झूठी सूचनाएं फैलाईं साथ ही 2020 में अमेरिकी चुनाव को लेकर भी कई भ्रामक खबरें फैलाईं।  28, 29 मार्च को उसने समारोह आयोजित किए और 6 अप्रैल को उसकी कोरोना से मौत हो गई। इस वजह से कई लोगों में कोरोना संक्रमण फैल गया ।

 

पुलिस को जैसे ही इस पार्टी के बारे में पता चला एक प्रेस रिलीज जारी की गई। पुलिस ने कहा, 'हमें नहीं पता कि कितने लोगों ने इस समारोह में भाग लिया लेकिन सभी प्रतिभागियों से जल्द से जल्द एक कोरोना टेस्ट कराने के लिए कहा गया है।  बता दें कि जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के अनुसार  दुनियाभर में इस समय  141.1 मिलियन से ऊपर कोरोना केस हैं जबकि 3.01 मिलियन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका विश्व में सबसे ज्यादा 31,668,532 केस के साथ 567,217 मौतों वाला देश है  और भारत में संक्रमण  के मामले में भारत विश्व में दूसरे स्थान पर पहुंच चुका है।

 


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static