See More

बाजवा विवाद से हटाए गए कानून मंत्री दोबारा कैबिनेट में हुए शामिल

2019-11-29T16:34:36.473

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सेना अध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा को सेवा विस्तार दिये जाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सरकार का पक्ष रखने के लिए कानून मंत्री के पद से त्यागपत्र देने वाले मशहूर अधिवक्ता फरोग नसीम को शुक्रवार को दोबारा संघीय मंत्रिपरिषद में शामिल कर लिया गया। पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने नसीम को संघीय मंत्री के रूप में शपथ दिलाई। हालांकि, उनको मिले विभाग के बारे में अभी विरोधाभासी खबरें आयी है।

PunjabKesari

डॉन न्यूज की खबरों में कहा गया कि नसीम को मिले मंत्रालय की घोषणा नहीं हुई है, जबकि एक्सप्रेस ट्रिब्यून और जियो न्यूज ने कहा कि उन्हें दोबारा कानून मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गयी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 19 अगस्त को अधिसूचना जारी कर बाजवा का सेवाकाल बढ़ा दिया था लेकिन उच्चतम न्यायालय ने सेवा विस्तार में अनियमितताओं का हवाला देते हुए उसे मंगलवार को रद्द कर दिया था। उसी दिन नसीम ने कानून मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया और बाजवा के मुकदमे में सरकार का प्रतिनिधित्व करने का निर्णय किया था।

PunjabKesari

प्रधानमंत्री के विशेष सहायक शहजाद अकबर ने कहा था कि नसीम ने स्वेच्छा से इस्तीफा दिया था क्योंकि कानून मंत्री रहते हुए वह मुकदमा नहीं लड़ सकते थे। उन्होंने यह भी कहा था कि मुकदमा खत्म होने के बाद नसीम पुनः कैबिनेट मंत्री का पद संभालेंगे। गुरुवार को उच्चतम न्यायालय ने बाजवा को शसर्त छह महीने का सेवा विस्तार दिया जिसके बाद बाजवा को लेकर पाकिस्तानी सरकार और न्यायालय के बीच चल रही खींचतान खत्म हो गयी। 


 


vasudha

Related News