रूस के खिलाफ एकजुट हुए G7 देश, पुतिन को सबक सिखाने का लिया संकल्प,पढ़ें विदेश की 10 बड़ी खबरें

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 07:08 AM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः विश्व के सबसे धनी लोकतांत्रिक देशों के नेताओं ने रूस के आक्रमण के खिलाफ यूक्रेन का समर्थन करने का मंगलवार को संकल्प लिया। नेताओं ने "जब तक आवश्यक हो", तब तक यूक्रेन का समर्थन करने के लिए एकजुट रुख अपनाया और कहा कि वे युद्ध को वित्तपोषित करने वाले तेल की बिक्री से रूस की आय को सीमित करने के लिए दूरगामी कदमों की संभावना का पता लगाएंगे। जर्मनी में जी-7 देशों के शिखर सम्मेलन के बाद जारी अंतिम बयान में रूस पर "गंभीर और तत्काल आर्थिक लागत" लगाने के इरादे को रेखांकित किया गया। 

पढ़ें विदेश की 10 बड़ी खबरें- 

उदयपुर हत्याकांड के कनेक्शन का खुलासा होने पर बौखलाया पाकिस्तान
पाकिस्तान ने उदयपुर हत्याकांड का कनेक्शन अपने देश से जोड़ने पर आधिकारिक सफाई पेश की है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज करते हुए कहा कि इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। विदेश मंत्रालय ने दावा किया कि भारत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की छवि को खराब करने का प्रयास कर रहा है। दरअसल, नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर उदयपुर में एक दर्जी की दिनदहाड़े गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद पता चला था कि इस हत्या में शामिल दोनों आरोपियों का कनेक्शन पाकिस्तानी संगठन दावते-इस्लामी से है। 

पाकिस्तान बजट: पाकिस्तान संसद ने 9.5 ट्रिलियन रुपए के बजट को दी मंजूरी 
पाकिस्तान की संसद के निचले सदन ने बुधवार को 9.5 ट्रिलियन रुपये के वित्त विधेयक 2022 को पारित किया, जिसे आम तौर पर संघीय बजट के रूप में जाना जाता है। वित्त और राजस्व राज्य मंत्री डॉ. आयशा घोष पाशा ने मतदान के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि 80 प्रतिशत संशोधन सीधे करों से संबंधित थे। हमारा उद्देश्य अमीरों पर कर लगाना और गरीबों को राहत देना है। 

इमरान खान ने भेंट में मिली तीन घड़ियां बेच कर कमाए 3.6 करोड़ रुपए  
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान नित नए आरोपों में घिर रहे है। वे दूसरे देशों के प्रमुखों से मिले तोहफे बेचने के आरोपों का सामना कर रहे हैं। इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। बुधवार को मीडिया रिपोर्ट्स में खुलासा किया गया है कि पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधान मंत्री इमरान खान ने गिफ्ट में मिली तीन घड़ियों को एक स्थानीय घड़ी डीलर को बेचकर लाखों रुपये कमाए। रिपोर्ट्स में एक आधिकारिक जांच के हवाले से बताया गया है कि पद पर रहते हुए इमरान खान ने भेंट में मिली तीन ज्वैल क्लास की घडियों को एक स्थानीय घड़ी डीलर को अवैध रूप से बेचकर 36 मिलियन रुपये कमाए। ये घड़ियां पहले मीडिया में रिपोर्ट किए गए तोशाखाना उपहारों के अलावा थीं।  

अमेरिका ने 5 चीनी कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध 
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन ने पांच चीनी कंपनियों को यूक्रेन संघर्ष के बीच रूसी सेना और रक्षा कंपनियों को कथित रूप से सहायता देने पर इन कंपनियों के अमेरिका में व्यापार करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। वाणिज्य विभाग ने मंगलवार को कहा कि 24 फरवरी को रूस के यूक्रेन पर आक्रमण करने से पहले सभी कंपनियों ने रूस को जरूरी समानों की आपूर्ति की थी और वह अब भी रूसी कंपनियों को आपूर्ति जारी रखे हुए हैं। संघीय रजिस्टर दाखीला के अनुसार चीनी कंपनियों के अलावा विभाग ने रूस, दुबई, लिथुआनिया, पाकिस्तान, सिंगापुर, ब्रिटेन, उज्बेकिस्तान और वियतनाम की 31 कंपनियों को भी प्रतिबंधित कर दिया है। 

ब्रिटिश सोशलाइट घिसलीन मैक्सवेल को यौन अपराधों के लिए 20 साल कैद की सजा 
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की मशहूर फाइनेंसर जेफरी एपस्टीन के साथ सेक्स रैकेट चलाने, युवा लड़कियों को इसमें भर्ती करने, उन्हें तैयार करने और उनकी यौन तस्करी करने के अपराध के लिए ब्रिटिश सोशलाइट घिसलीन मैक्सवेल को अमेरिका की जेल में 20 साल कैद की सजा सुनाई गई है। एपस्टीन की पूर्व प्रेमिका 60 साल की मैक्सवेल को पिछले साल दिसंबर में दोषी ठहराया गया था। उन पर आरोप लगाने वालों में से एक ने न्यूयॉर्क में अदालत के बाहर कहा कि उन्हें अपनी बची-खुची जिंदगी जेल में ही रहना चाहिए। 

नेपाल ने काठमांडू में स्ट्रीट फूड की बिक्री पर लगाया प्रतिबंध 
नेपाल ने राजधानी में हैजा के प्रसार को रोकने की कवायद के तहत काठमांडू घाटी में रेहड़ी-पटरी पर खाने-पीने का सामान (स्ट्रीट फूड) बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया है। काठमांडू मेट्रोपोलिटन सिटी (KMC) द्वारा स्ट्रीट फूड की बिक्री पर प्रतिबंध का फैसला तब लिया गया है जब इलाके में रविवार के बाद से अब तक हैजा के 12 मरीज सामने आए हैं। 

जॉनसन का रूसी राष्ट्रपति पर कसा तंज, कहा-  'पुतिन महिला होते तो नहीं करते यूक्रेन युद्ध की शुरुआत'
रूस और यूक्रेन के बीच 24 फरवरी 2022 को शुरू हुआ युद्ध अब भी थमा नहीं है। पूर्वी यूक्रेन पर रूस की ओर से तेज हमले जारी हैं। युद्ध के ऐलान के बाद से रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पश्चिमी देशों के नेताओं के निशाने पर हैं। इस बीच ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पुतिन पर तंज कसा है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यदि एक महिला होते तो वह एक उन्मादी और जबरन थोपे जाने वाले युद्ध की शुरूआत नहीं करते। 

रूस-यूक्रेन जंग: जेलेंस्की ने पुतिन को बताया आतंकी, कही यह बात  
रूस-युक्रेन जंग को 4 महीने से ज्यादा हो चुके हैं और यह जारी है। इस बात की भी कोई उम्मीद नहीं नजर नहीं आती कि जल्द यह जंग थमेगी। सोमवार को रूसी सेना ने एक शॉपिंग कॉम्पलेक्स पर मिसाइल हमला किया था। कॉम्पलेक्स में 1000 से ज्यादा लोग मौजूद थे। 18 लोगों की मौत हो गई थी। हालांकि रूस ने हमले से इनकार कर दिया और उल्टा इसे यूक्रेन की साजिश बताया। दूसरी तरफ, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करते हुए जेलेंस्की ने पुतिन की तुलना आतंकवादियों से की। जेलेंस्की ने कहा- रूस के कत्ल-ए-आम को फौरन रोकने की जरूरत है, अब दुनिया को एक्शन लेना होगा। जेलेंस्की ने UN से एक टीम भेजकर शॉपिंग कॉम्पलेक्स पर हुए हमले की जांच कराने की मांग की। 

दक्षिण कोरिया की पहली कोविड वैक्सीन को मिली स्वीकृति 
दक्षिण कोरिया के खाद्य और औषधि सुरक्षा मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि सरकार ने देश की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन ‘स्काईकोविवन' के उत्पादन और बिक्री की स्वीकृति दे दी। खाद्य और औषधि सुरक्षा मंत्री ओह यू-क्यूंग ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'दक्षिण कोरिया के खाद्य और औषधि सुरक्षा मंत्रालय ने कोविड वैक्सीन के लिए अंतिम निरीक्षण आयोग का गठन किया और कोरोनो वायरस वैक्सीन के निर्माण और वितरण के लिए कोरिया बायोसाइंस को स्वीकृति देने का निर्णय लिया।' उप स्वास्थ्य मंत्री ली की-इल ने कहा, ‘‘स्काईकोविवन को अभी तक अन्य टीकों के साथ-साथ ओमिक्रॉन संस्करण को रोकने के लिए परीक्षण किया जाना है।'' 

नाटो में शामिल होने के फिनलैंड और स्वीडन के आवेदन को तुर्की ने दी मंजूरी 
तुर्की ने आखिरकार नाटो (उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन) में शामिल होने के लिए स्वीडन और फिनलैंड के भेजे गए आवेदनों को स्वीकार कर लिया। बीबीसी ने बुधवार को अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। तुर्की ने पहले संगठन में इन देशों के शामिल होने को लेकर असहमति जाहिर की थी, जिसकी वजह कुर्द चरमपंथियों के खिलाफ इन देशों की तरफ से की गई कारर्वाई का अभाव था। तुर्की का मानना था कि अगर ये नाटो में शामिल हो गए तो यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि आतंकवादी संगठनों के खिलाफ इनकी कोई स्पष्ट और पारदर्शी नीति नहीं है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News